RTGS Kya Hai |RTGS Full Form|आरटीजीएस कैसे करें और ये कैसे काम करता है

जानिए RTGS Kya Hai – जैसे कि यह तो आप सभी जानते ही हैं कि तकनीकी दुनिया में लगातार विकास होता जा रहा है और एक ही विकास के चलते वर्तमान समय में लोग ऑफलाइन ट्रांजैक्शन के बजाय ऑनलाइन ट्रांजैक्शन को अपना रहे हैं| अधिकतर लोग ऑनलाइन ट्रांजैक्शन करना ही पसंद करते हैं एक बैंक से दूसरे बैंक में पैसे ट्रांसफर करना ऑनलाइन माध्यम से बहुत सुविधाजनक हो गया है इंटर बैंक ट्रांसफर के तहत कार्य करने वाले सिस्टम जैसे NEFT और RTGS ने उन लोगों के लिए जीवन आसान बना दिया है जो बैंक जाए बिना किसी को पैसा भेजना चाहते हैं आरटीजीएस के माध्यम से पैसे भेजना और प्राप्त करना दोनों ही बहुत सुरक्षित और आसान हो गए हैं एनईएफटी और आरटीजीएस दोनों की निगरानी भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा की जाती है|

वर्तमान समय में सामान्य लोग भी नेट बैंकिंग के माध्यम से पैसा भेजने के लिए RTGS, IMPS का इस्तेमाल करते हैं यही कारण है कि आज के लेख के माध्यम से हम आपको RTGS से संबंधित जानकारी ही आपको प्रदान करने वाले हैं लेख के अंतर्गत हम आपको बताएंगे कि RTGS Kya Hai आरटीजीएस फुल फॉर्म इसके उपयोग लाभ तथा आरटीजीएस फंड ट्रांसफर कैसे करें इन सभी जानकारियों को जानने के लिए हमारे लेख को अंत तक पढ़ें|

RTGS Kya Hai

यदि आप जानना चाहते हैं कि RTGS क्या है तो हम आपको बता दें कि आरटीजीएस एक ऐसा सिस्टम है जिसकी मदद से आप बहुत आसानी से बड़ी रकम का लेनदेन कर सके जीपीएस को बड़ी रकम का लेनदेन करने आरटीजीएस से बड़ी रकम के साथ-साथ लेनदेन करने सुरक्षा मिलती है और इस पर चार्ज भी कम लगते हैं| आरटीजीएस से पेमेंट करना बहुत फायदेमंद है लेकिन आरटीजीएस से पैसों पर लेनदेन करने के लिए आपके पास बड़ी रकम का होना जरूरी है|

देखा जाए तो RTGS का एक बहुत अच्छा फायदा यह है कि हम जब भी किसी व्यक्ति को आरटीजीएस की मदद से पैसे भेजते हैं तो वह पैसे तुरंत ही उसके अकाउंट में कुछ ही मिनटों के अंदर पहुंच जाते हैं|



RTGS Full Form

RTGS का Full Form होता है| Real Time Gross Settlement.

ये भी पढ़े – IP Address क्या है
ये भी पढ़े – शेयर मार्केट क्या है

आरटीजीएस लेनदेन की विशेषताएं (Features of RTGS Transaction)

|RTGS| आरटीजीएस की कुछ मुख्य विशेषताएं निम्नलिखित हैं|

  • इसमें Real Time Online Fund Transfer किया जाता है|
  • RTGS बहुत Safe और Secure होता है|
  • यह बहुत Real है क्योंकि इसके पीछे RBI का हाथ होता है|
  • आरटीजीएस के साथ इसमें one on one बेसिस में क्रेडिट किया जाता है|
  • इसमें Transaction को Individual और Grosses इसमें अद्भुत किया जाता है|

आरटीजीएस सेवा के लाभ

आरटीजीएस सेवा के बहुत से लाभ है जिनमें से कुछ लाखों के बारे में हमने आपको नीचे बताया है|

  • पहले बड़ी राशि का भुगतान डिमांड ड्राफ्ट के माध्यम से किया जाता था जिसे 3 दिनों में मंजूरी दी जा सकती थी| लेकिन अब यह आरटीजीएस के माध्यम से कुछ ही समय में भुगतान किया जा सकता है जिससे समय की बचत होती है|
  • RTGS ऑनलाइन प्रक्रिया है जिसके कारण इससे पैसे भेजने से पैसे चोरी होने या चेक जारी होने का कोई खतरा नहीं होता है|
  • यह कंपनियों को अपनी व्यवसाय पूंजी को बेहतर तरीके से मैनेज करने में सहायता करता है|
  • बिना किसी कागजी प्रक्रिया के अधिक राशि को तुरंत ट्रांसफर किया जा सकता है|
  • यह बदले में एक बेहतर आपूर्ति करता खरीदार संबंध सुनिश्चित करता है क्योंकि एक बड़ी राशि को एक बार में और बिना किसी देरी के ट्रांसफर कर सकता है|

RTGS की Limit कितनी होती है

आरटीजीएस से हम NEFT की तरह 1000 या 100000 का ट्रांजैक्शन नहीं कर सकते हैं क्योंकि यह सुविधा हमें केवल बड़े ट्रांजैक्शन पर ही मिलती है आरटीजीएस को बड़े ट्रांजैक्शन करने वाले व्यापारियों एवं निवेशकों के लिए बनाया गया है| इससे हम 200000 एवं उससे अधिक क्षेत्रों पर लेनदेन कर सकते हैं और इसमें हमें कोई परेशानी नहीं होती है|

RTGS Online कैसे करें

आरटीजीएस ऑनलाइन करने के लिए आपको अपने अकाउंट की नेट बैंकिंग को लॉगइन करना होगा और RTGS के ऑप्शन पर जाकर जिस व्यक्ति को आप आरटीजीएस करना चाहते हैं उसके अकाउंट की जानकारी Account Number, Bank Name में Money Amount डाली होती है इस प्रकार आप उस व्यक्ति को आरटीजीएस कर सकते हैं|

RTGS Offline कैसे करें

आरटीजीएस ऑफलाइन करने के लिए आपको अपने बैंक की नजदीकी शाखा जाकर एक आरटीजीएस का फॉर्म प्राप्त करना होता है जिसमें आप जिस व्यक्ति को RTGS की जानकारी भरते हैं Account Number, Bank Name में Money Amount और आप अपने बैंक की जानकारी भरकर ड्राफ्ट बॉक्स में डाल देते हैं|

RTGS Transaction के लिए जरूरी चीजें

  • भेजी जाने वाली राशि
  • राशि डेबिट करने के लिए रेटिंग ग्राहक की अकाउंट जानकारी
  • लाभार्थी बैंक और शाखा का नाम
  • लाभार्थी ग्राहक का नाम
  • लाभार्थी ग्राहक का अकाउंट नंबर
  • IFSC कोड
  • रिसीवर जानकारी के लिए प्रेषक यदि कोई हो

आरटीजीएस शुल्क (RTGS Fees)

सभी इंटर बैंक मनी ट्रांसफर सेवाओं पर एक मामूली शुल्क लगता है आरटीजीएस सेवा का लाभ प्राप्त करने के लिए भी आपको अपने आर्डर पर निश्चित शुल्क का भुगतान करना होगा यह शुल्क एक बैंक से दूसरे बैंक में भिन्न होता है| लेकिन भुगतान पर शुल्क लगाने के लिए एक समान स्लैब होता है इसलिए को दो भागों में विभाजित किया गया है जिसके बारे में हम बताने वाले हैं|

  1. 200000 से 500000 के बीच ट्रांजैक्शन
  2. 500000 से किसी भी राशि तक के लिए ट्रांजैक्शन

आरटीजीएस शुल्क कुछ और लिमिट के साथ उसी स्लैब का पालन करते हैं|

  • 2 से 5 लाख के ट्रांजैक्शन पर शाखा में ₹25 का मामूली शुल्क लगता है और इंटरनेट बैंकिंग चैनलों के माध्यम से ट्रांजैक्शन पर ₹5 का शुल्क लगता है|
  • 500000 और उससे अधिक के ट्रांजैक्शन पर शाखा में ₹50 का शुल्क लगता है और इंटरनेट के माध्यम से ट्रांजैक्शन करने पर ₹10 शुल्क लगता है|
ये भी पढ़े – UPI क्या है
ये भी पढ़े – Google Pay क्या है 

RTGS से Fund Transfer कैसे करें

RTGS Kya Hai
  • सबसे पहले आपको अपनी इंटरनेट बैंकिंग सुविधा को एक्टिव रखना होगा एक्टिवेशन करने के लिए अपनी बैंक शाखा से संपर्क करें|
  • आपके द्वारा प्रदान की गई आईडी और पासवर्ड के साथ बैंक के ऑनलाइन वेब पोर्टल पर लॉगिन करें|
  • अपनी प्रोफाइल पर जाएं और Beneficiary विकल्प को चुनें|
  • उपलब्ध इंटर बैंक भुगतान विकल्पों में से RTGS को चुने|
  • लाभार्थी को जोड़ने के लिए दिए गए विकल्प को चुनें और लाभार्थी का नाम अकाउंट नंबर पता और आईएफएससी कोड जैसी जरूरी जानकारी भरें|
  • जानकारी भरने के बाद Confirm करें|
  • इसके बाद ‘accept Terms of Service (Terms & Conditions बटन पर क्लिक करें|
  • एक अतिरिक्त सुरक्षा के लिए आपको आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक सिक्योरिटी पासवर्ड भेजा जाएगा लाभार्थी को अधिकृत करने के लिए यह पासवर्ड डालें|
  • जुड़े के लाभार्थी को बैंक और सुरक्षा उपायों के आधार पर 30 मिनट में या कुछ घंटे के भीतर एक्टिव किया जाता है एक बार लाभार्थी का अकाउंट एक्टिव हो जाने पर तुरंत ट्रांसफर किया जा सकता है|
  • RTGS/NEFT के माध्यम से इंटरबैंक भुगतान करता को पैसे भेजने के लिए पेमेंट ट्रांसफर टैब में इंटर बैंक ट्रांसफर लिंक का चयन करें|
  • ट्रांजैक्शन प्रकार RTGS/NEFT में से चुने|
  • जुड़े के लाभार्थी अकाउंट की लिस्ट प्रदर्शित की गई है|
  • राशि दर्ज करें और लाभार्थी को चुनें जिसे लिस्ट में दिया गया है|
  • Accept Terms of Service (Terms & Conditions)’ पर क्लिक करें और पुष्टि करें|

यदि आप किसी भी समस्या का सामना करते हैं तो यह सलाह दी जाती है कि अपने बैंक से संपर्क करें और आपको यह समझने के लिए एक प्रतिनिधि प्राप्त करें कि आरटीजीएस फंड ट्रांसफर का उपयोग कैसे करें जिससे यह सुनिश्चित हो सके कि कोई गलती ना हो|

FAQs – RTGS Kya Hai

क्या है आरटीजीएस पेमेंट सिस्टम?

RTGS Real Time Gross System एक Fund Transfer System है जिसके माध्यम से एक बैंक से दूसरे बैंक में तुरंत पैसे ट्रांसफर किए जा सकते हैं इस सिस्टम के माध्यम से काफी जल्द पैसे ट्रांसफर किए जाते हैं|

RTGS की Limit क्या है?

2 लाख रुपए आरटीजीएस की न्यूनतम लिमिट है इसमें कोई भी उच्चतम लिमिट नहीं है|

आरटीजीएस के नुकसान क्या है?

आरटीजीएस का यह नुकसान है कि इसमें Transaction को Track करने की सुविधा नहीं दी जाती है|

Leave a Comment