(Union Budget 2023) आम बजट क्या है – बजट में क्या सस्ता क्या मेहेंगा

Union Budget 2023: यह तो आप सभी जानते ही होंगे कि बजट (Budget) का सभी के जीवन में कितना अधिक महत्व होता है| चाहे घर का खर्चा चलाना हो या खरीदारी करनी हो घूमने जाने से लेकर प्रतिदिन की विभिन्न आवश्यकताओं के लिए हमें बजट बनाकर ही विभिन्न मदों में खर्च करना होता है| ऐसे में अगर देश के संचालन की बात हो तो बजट शब्द का अर्थ और भी व्यापक एवं विस्तृत हो जाता है प्रतिवर्ष सरकार द्वारा देश में विभिन्न मदों से प्राप्ति एवं बीए के अनुसार बजट निर्धारित किया जाता है| देश के आम आदमी के जीवन में बजट का महत्वपूर्ण प्रभाव होता है ऐसे में हमें बजट के संबंध में जानकारी प्राप्त करनी जरूरी होती है|

आज के लेख के माध्यम से हम आपको बजट के बारे में जानकारी प्रदान करने वाले हैं इस लेख के अंतर्गत हम आपको बताएंगे कि Union Budget 2023 आम बजट क्या है यदि आप इस विषय से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारियां प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे लेख को अंत तक जरूर पढ़ें इसमें आपको आम बजट से संबंधित सभी जानकारियां प्राप्त हो जाएगी|

Union Budget 2023 आम बजट क्या है

बजट वह वार्षिक वित्तीय योजना है जिसके तहत सरकार द्वारा आगामी वर्ष की प्राप्ति एवं राजस्व तथा व्यय का अनुमान निर्धारित किया जाता है सरल शब्दों में कहा जाए तो बजट वह प्रक्रिया है जिसके तहत सरकार द्वारा यह तय किया जाता है| आगामी वित्त वर्ष में उसे विभिन्न स्त्रोतों से कुल कितनी अनुमानित कमाई होगी जिसके अनुसार वह अलग-अलग योजनाओं और सेवाओं में खर्च कर सकते हैं| भारत के संविधान में आर्टिकल 112 में बजट का प्रावधान किया गया है भारत का वित्तीय वर्ष 1 अप्रैल से 31 मार्च तक होता है ऐसे में प्रति वर्ष इसी अवधि के लिए सरकार द्वारा बजट पेश किया जाता है|

इसको आप इस प्रकार भी समझ सकते हैं मान लीजिए आप किसी यात्रा पर जाने का प्लान कर रहे हैं ऐसे में निश्चित ही आप यात्रा में आने वाले विभिन्न खर्चों का संभावित अनुमान पहले से लगा लेंगे या आप अपने आमदनी के अनुसार ही यात्रा की योजना बनाएंगे बजट में भी इसी प्रकार से कार्य किया जाता है| सरकार द्वारा बजट के तहत पहले से अनुमान लगाया जाता है कि विशिष्ट वर्ष में उसे विभिन्न स्त्रोतों (राजस्व, प्राप्तियां एवं ऋण आदि) से कुल कितनी कमाई होने वाली है इसके बाद अपनी कमाई के अनुसार ही सरकार द्वारा विभिन्न योजनाओं पर (योजनाओं, रक्षा, वेतन, सब्सिडी आदि) में खर्च का प्रस्ताव किया जाता है|



ये भी पढ़े – वर्तमान में भारत के प्रधानमंत्री कौन है 
ये भी पढ़े – वर्तमान में कौन क्या है ?
Union Budget

बजट की परिभाषा

बजट (Budget) शब्द अंग्रेजी के Bowgette से लिया गया है इस शब्द की उत्पत्ति फ्रेंच भाषा के Bougette से हुई है और यह शब्द Bough से बना है जिसका अर्थ चमड़े का थैला होता है| बजट भविष्य के लिए बनाई गई एक ऐसी योजना है जो प्रति वर्ष राजस्व या अन्य साधनों से होने वाली आय और व्यय को अनुमान के आधार पर बनाया जाता है|

इस बजट को वित्त मंत्री द्वारा अपनी आय और व्यय का अनुमान लगाकर आगामी वर्ष के लिए अनेक प्रकार की योजनाएं बनाकर जनता के समक्ष प्रत्येक वित्तीय वर्ष के दौरान प्रस्तुत किया जाता है|

दूसरे शब्दों में बजट एक निर्धारित समय सीमा के लिए पहले से निर्धारित आय और व्यय का अनुमान है जो कि भविष्य की Financial Situation को प्रदर्शित करने के लिए Financial Targets को प्राप्त करने में मदद करता है|

बजट क्यों आवश्यक है

देश में वित्तीय संचालन के लिए बजट सबसे महत्वपूर्ण साधन होता है| बजट के माध्यम से ही सरकार द्वारा आगामी वर्ष की प्राप्ति एवं व्यय का अनुमानित विवरण लगाया जाता है| बजट के आधार पर ही सरकार द्वारा यह तय किया जाता है कि आगामी वित्तीय वर्ष में उसे विभिन्न मदों में कुल कितनी आमदनी प्राप्त होने वाली है| बजट के द्वारा ही सरकार द्वारा यह अनुमान लगाया जाता है कि सरकार अपनी प्राप्तियों की तुलना में किस हद तक व्यय कर सकती है| भारत सरकार द्वारा विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं अनुदान रक्षा खर्च विभिन्न परियोजनाओं एवं संरचनात्मक विकास कार्यों वेतन एवं अन्य मदों में व्यय के लिए बजट की आवश्यकता होती है बजट के माध्यम से ही देश की वित्तीय व्यवस्था का सुचारू रूप से संचालन हो पाता है|

आम बजट का क्या मतलब होता है

आम बजट केंद्र सरकार द्वारा प्रस्तुत किया गया सबसे बड़ा बजट होता है जिसमें देश में रहने वाले सभी वर्गों के व्यक्तियों के हितों को ध्यान में रखते हुए बनाया जाता है इस बजट में भारत सरकार को प्राप्त होने वाले सभी प्रकार के आए और खर्चों का लेखा-जोखा होता है| इसके साथ ही इस बजट में मंत्रालयों को उनके खर्चों के लिए धन का आवंटन होता है| मुख्य रूप से इस बजट में सभी प्रकार के प्रावधान होते हैं जो कि बिल के रूप में पारित होते हैं| आम बजट में सरकार की आर्थिक नीति की दिशा दिखाई देती है अर्थात सरकार आगामी वित्त वर्ष में किस क्षेत्र में कितनी धनराशि खर्च करेगी इसका विधिवत उल्लेख किया जाता है|

संविधान के अनुसार बजट

भारतीय संविधान में बजट शब्द का उल्लेख नहीं है परंतु संविधान के आर्टिकल 112 में वार्षिक वित्तीय विवरण Annual Financial Statement के नाम से इसका विवरण दिया गया है| इस Financial Statement में अनुमान के आधार पर आय और व्यय का उस वर्ष के लिए सरकार का विस्तृत ब्यौरा होता है भारत का पहला बजट जेम्स विल्सन द्वारा वर्ष 1807 में पेश किया गया था जबकि स्वतंत्र भारत का पहला बजट आर के सर मुखम शेट्टी द्वारा सन 1947 में पेश किया गया था|

ये भी पढ़े – आयुष्मान भारत हॉस्पिटल लिस्ट 
ये भी पढ़े – आरक्षण (Reservation) क्या है?

बजट के प्रकार (Types of Budget)

आम बजट जिसको केंद्रीय बजट के नाम से भी जाना जाता है और इस को संघीय बजट भी कहते हैं| इन बजट को दो मुख्य भागों में बांटा गया है जिनके बारे में हम आपको नीचे बताने वाले हैं|

  1. राजस्व बजट (Revenue Budget)
  2. पूंजी बजट (Capital Budget

राजस्व बजट-  इस बजट द्वारा ही सरकार के राजस्व एवं व्यय का संपूर्ण लेखा-जोखा तय किया जाता है इसके तहत सरकार को प्राप्त होने वाले राजस्व एवं इसके व्यय का हिसाब- किताब शामिल किया जाता है राजस्व बजट में दो स्त्रोतों से प्राप्त राजस्व को शामिल किया जाता है|

  • टैक्स
  • नॉन टैक्स रिवेन्यू

पूंजी बजट- पूंजीगत प्राप्तियां के अंतर्गत सरकार की प्राप्ति हो एवं सरकार द्वारा भुगतान की गई राशि को शामिल किया जाता है पूंजी बजट के दो मुख्य बिंदु होते हैं|

सरकार को पूंजीगत प्राप्तियां- इस प्रकार की प्राप्तियां में जनता से लिया गया लोन बॉन्ड के रूप में भारतीय रिजर्व बैंक से लिए गए ऋण एवं विदेशी सरकार एवं संस्थाओं के द्वारा प्राप्त वित्त को शामिल किया जाता है|

सरकार का पूंजीगत खर्च– इस व्यय के अंतर्गत सरकार द्वारा स्वास्थ्य, शिक्षा, घर, मशीनरी एवं ढांचागत सुविधाओं को प्रदान करने के लिए किया गया खर्च शामिल होता है|

प्रति वर्ष बजट बनाने का उद्देश्य

भारत सरकार द्वारा प्रतिवर्ष बजट बनाकर आगामी वित्त वर्ष में देश के विभिन्न क्षेत्रों जैसे परिवहन शिक्षा उद्योग स्वास्थ्य और विनिर्माण आदि में किए जाने वाले अनेक प्रकार के विकास कार्यों में होने वाले खर्चों का अनुमान लगाती है| और इस प्रकार के अनुमानित खर्चों को पूरा करने के लिए धन की व्यवस्था करने हेतु विभिन्न प्रकार की चीजों पर कुछ नए करिया टैक्स को बढ़ाने का कार्य करती है|

साधारण शब्दों में कहा जाए तो सरकार इस बजट द्वारा यह निर्धारित करती है कि आगामी वित्त वर्ष में देश की प्रगति के लिए किन चीजों पर प्राथमिकता के साथ खर्च करना है| और इसके लिए धन की व्यवस्था कैसे करनी है आय व्यय के इस ब्यूरो को तैयार करना ही बजट कहलाता है और प्रत्येक बजट एक निर्धारित समय अवधि के लिए बनाया जाता है|

भारतीय संविधान के आर्टिकल 112 में भारत के केंद्रीय बजट को Annual Financial Statement के रूप में निर्दिष्ट किया गया है जो कि भारतीय गणराज्य का एनुअल बजट होता है इस बजट को भारत के वित्त मंत्री द्वारा संसद में प्रतिवर्ष फरवरी के अंतिम कार्य दिवस में पेश करते रहे हैं| लेकिन वर्ष 2017 में इस बजट को फरवरी माह के पहले दिन पेश किया जा रहा है| आपको बता दें कि भारतीय वित्त वर्ष 1 अप्रैल से 31 मार्च तक होता है भारतीय संविधान के अनुसार बजट को लागू करने से पहले संसद द्वारा पास करना आवश्यक होता है|

ConclusionUnion Budget

आज के लिए हमें हमने आपको Union Budget 2023 आम बजट क्या है के विषय से संबंधित सभी विस्तार पूर्वक जानकारियां प्रदान की है| यदि आप हमारे द्वारा बजट से संबंधित दी गई सभी महत्वपूर्ण जानकारियों से संतुष्ट है तो हमारे लेख को शेयर जरूर करें और अगर आप हमारे लेख से संबंधित कोई भी जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो उसको आप कमेंट बॉक्स में कमेंट करके जरूर बताएं|

Leave a Comment