Drone Kya Hota Hai – ड्रोन क्या होता है इसके प्रकार व कार्य पूरी जानकारी

Drone Kya Hota Hai in Hindi – दोस्तों आज हम ऐसे टॉपिक पर आपको जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं जिसके बारे में बहुत कम लोग जानते हैं| और बहुत कम लोगों ने इसका नाम सुना है आज जिसके बारे में हम बात करने जा रहे हैं वह ड्रोन (Drone) हैं| आज हम आपको ड्रोन के बारे में बताने वाले हैं दोस्तों बाकी देशों के मुकाबले हमारे देश में ड्रोन का इस्तेमाल बहुत कम होता है| शायद यही कारण है कि हमारे देश के बहुत से लोग ड्रोन  के बारे में नहीं जानते हैं| देश में इसका इस्तेमाल केवल वही लोग करते हैं जो Travel Blogger  एवं Photographer होते हैं, View Shoot करने के लिए Drone का इस्तेमाल करते हैं|

यदि आप ड्रोन के बारे में जानकारी जानना चाहते हैं तो इस आर्टिकल में हम आपको बताने वाले हैं कि Drone Kya Hota Hai, यह कैसे काम करता है, ड्रोन कैसे उड़ता है, ड्रोन का आविष्कार किसने किया, इसको उड़ाने के लिए कितने तरह के लाइसेंस होते हैं, तथा ड्रोन के प्रकार के बारे में भी हम आपको इस आर्टिकल के अंतर्गत बताने वाले हैं| इन सभी जानकारियों को जानने के लिए हमारे साथ अंत तक बने रहें|

Google में अपना Photo कैसे डालेंमोबाइल से डिलीट (Delete) हुए Photo और Video को वापस कैसे लायेफोटो एडिट कैसे करें

Drone Kya Hota Hai

Drone एक तरह से Miniature Robot ही होता है यह उड़ने में सक्षम होते हैं Drone को एक Remote System की सहायता से कंट्रोल भी किया जा सकता है| इसको आप साधारण शब्दों में मानव रहित मिनी हेलीकॉप्टर भी कह सकते हैं| क्योंकि जैसा कि हमने आपको अभी बताया कि इस को उड़ाने के लिए Remote Control System का प्रयोग किया जाता है| यह Remote एक Software के जरिए नियंत्रित होता है| इस रिमोट का वजन 250 ग्राम से लेकर 150 ग्राम से भी अधिक होता है| ड्रोन को ऐसी स्थिति में इस्तेमाल किया जाता है जो कि इंसानी पहुंच से दूर होता है| इसका प्रयोग आप 24 घंटे की निगरानी करने के लिए कर सकते हैं|

ड्रोनका Development इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियरिंग और कंप्यूटर क्षेत्र में हुआ है पहले ड्रोन का उपयोग अधिकतर सैन्य संबंधित कार्यों के लिए किया जाता था| अब यह Technology Advance हो गई है| ड्रोन के चारों तरफ चार Rotor लगे होते हैं इन Rotor की मदद से ही यह आसमान की ऊंचाई में उड़ पाता है तथा इसमें कैमरे लगे होते हैं|



Drone का इस्तेमाल अब Civilian भूमिकाओं में भी होने लगा है जैसे दुर्गम स्थानों में फंसे लोगों के लिए Search और Rescue के लिए, तथा यातायात और मौसम की निगरानी के लिए, खेती से जुड़े कार्यों के लिए, कीमती वस्तु या जगह की निगरानी के लिए, इसके अलावा Home Delivery जैसे Business के लिए Drone का इस्तेमाल किया जाने लगा है|

ज़रूर पढ़ेWIFI क्या होता है 
ज़रूर पढ़ेBijli Meter Change Application

ड्रोन को क्या कहा जाता है

ड्रोन को UAV या RPAS कहते हैं| तथा UAV या RPAS की Full form Unmanned Aerial Vehicles (UAV). Remotely Piloted Aerial System (RPAS) होती है| इसको आप मानव रहित मिनी हेलीकॉप्टर भी कह सकते हैं|

Drone Kya Hota Hai

ड्रोन कैसे काम करता है

रिमोट कंट्रोल की मदद से ड्रोन को उड़ाते वक्त ऐसा महसूस होता है जैसा Video Game खेलते वक्त होता है| Drone के Weight को कम करने के लिए बहुत ही Light Composite Materials का इस्तेमाल किया जाता है| इन Composite Materials के कारण ड्रोन बहुत ऊंची उड़ान भरते हैं| इसमें अलग-अलग उपकरणों का उपयोग किया जाता है| जैसे और भी बहुत अलग-अलग Technology इसमें Invalid है| Drone को Remote Control System की मदद से कंट्रोल किया जाता है| Smartphone और Tablet के माध्यम से इस Wireless Connectivity के माध्यम से पायलट ड्रोन और इसके आसपास के Area पर किसी पक्षी की आंख की तरह नजर रख सकता है| कुछ ऐप की मदद से आप इसको उड़ाने के लिए Set up भी कर सकते हैं|

इसके बाद यह खुद Pre Planning तरीके से उड़ता है| इसमें 4 Robot होते हैं| जो Invisual के साथ Connect होते हैं| Drone का वजन कम रखने के लिए ड्रोन में छोटी-छोटी Battery का Use किया जाता है| तथा ड्रोन को ऊंचा उड़ाने में मुख्य भूमिका Rotor की होती है ड्रोन पर Camera लगे होते हैं| कुछ Drone पर In- Built Camera लगे होते हैं| जो पायलट को यह देखने में मदद करते हैं कि ड्रोन कहां उड़ रहा है इन कैमरों से पायलट को ड्रोन पर नजर गड़ाकर रखने की जरूरत नहीं होती है क्योंकि ड्रोन पर लगे कैमरों की मदद से उन जगहो पर पहुंचना आसान होता है| जहां ड्रोन उड़ रहा है|

प्ले स्टोर डाउनलोड कैसे करेसबसे ज़्यादा फॉलोअर्स किसके हैंफेसबुक से पैसे कैसे कमाए

ड्रोन कैसे उड़ता है Drone Kya Hota Hai

Drone को हम Joystik और GS System के माध्यम से हवा में उड़ा सकते हैं| लेकिन इसके पीछे बहुत से Mechanicals System Features काम करते हैं| तभी यह ड्रोन हवा में उड़ पाता है  ड्रोन को उड़ाने के लिए GPS और Joystik सबसे जरूरी होता है| एक Net Torque पैदा होने पर पूरा ड्रोन घूमने लगेगा जब सभी Rotors एक साथ तेज गति से घूमते हैं तब यह नीचे हवा को Push करते हैं और हवा ड्रोन को ऊपर की तरफ Push करती है| रूटर की गति बढ़ाने पर ड्रोन धीरे-धीरे ऊपर उठने लगता है और जब गति कम की जाती है तो ड्रोन धीरे-धीरे नीचे आने लगता है|

ड्रोन को मोड़ने या घुमाने के लिए रूटर 1और 3 जो क्लॉकवाइज (Clockwise) दिशा में घूमते हैं उनकी गति अधिक करनी होती है जबकि Counterclockwise दिशा में घूम रहे रोटर 2 और 4 की गति इनसे कम रखनी होगी यदि आप ऐसा करते हैं तो ड्रोन की ऊंचाई में कोई कमी नहीं आती है लेकिन Angular Momentum बढ़ने की वजह से Drone Clockwise दिशा में घूम जाएगा| यदि आप ड्रोन को काउंटर क्लॉकवाइज (Counterclockwise) दिशा में घुमाना चाहते हैं तो इसका उल्टा करना होगा|

यदि आप Drone को Forward/Backward दिशा में लाना चाहते हैं तो आपको एक तरफ से दो रोटर्स की गति बढ़ानी होगी और दूसरी तरफ से दो रोटर्स की गति घटाने होगी|

Drone का आविष्कार

Drone का अविष्कार 1915 में महान वैज्ञानिक निकोला टेस्ला (Nikola Tesla) ने एक ऑटोमेटिक लड़ाकू विमान के रूप में किया था| इसके अलावा आधुनिक ड्रोन के पहले संस्करण का अविष्कार Abraham Kareem ने किया था अब्राहम करीम Fixed और रोटरी विंग मानवरहित वाहनों के डिजाइनर थे| इनको UAV Drone Technology का संस्थापक यानी पिता के रूप में माना जाता है|

ड्रोन उड़ाने के लिए कितने तरह के लाइसेंस होते हैं

ड्रोन को उड़ाने के लिए दो तरह के लाइसेंस होते हैं

  1. Student Remote pilot License    
  2. Remote pilot License   

Types of Drone (ड्रोन के प्रकार)

  1. Single Rotor Helicopters
  2. Fixed Wing Drones
  3. Fixed Wing Hybrid VTOL
  4. Multi – Rotors Drones
Drone Kya Hota Hai

Single Rotor Helicopters

यह एक प्रकार के Mini Helicopter ही होते हैं| इनमें केवल एक Rotor लगा होता है| इसकी Tail पर एक छोटा रूटर लगा होता है| यह Rotor इसके Head की Direction को Control करता है| Singal Rotor Helicopter में एक बड़े साइज का रूटर भी लगा होता है|

Fixed Wing Drones

यह पूरी तरह से एक अलग प्रकार के Drone होते हैं तथा इनके डिजाइन भी Multi Rotor Design से बहुत अलग होते हैं| इनमें सामान्य Aeroplane की तरह Wings का प्रयोग किया जाता है| यह अधिक Suitable नहीं होते हैं यह Multi – Rotor Drown की तरह हवा में उड़ने और Gravity का मुकाबला करने के लिए Energy का उपयोग नहीं करते हैं| Wings Drown कई घंटों तक हवा में उड़ान भर सकते हैं|

ज़रूर पढ़ेइन्वर्टर एसी और नॉन इन्वर्टर एसी मैं क्या फर्क है?
ज़रूर पढ़ेISI Mark क्या है 

Fixed Wing Hybrid VTOL

इनमें Fixed Wing Version के Benefits और Rotor Based Versions के Benefits को Combine कर दिया जाता है| VTOL Full Form Vertical Take- Off Landing  

Multi – Rotors Drones

Multi – Rotors Drones का इस्तेमाल सबसे अधिक किया जाता है| इन ड्रोन का इस्तेमाल प्रोफेशनल और शौकीन कामों के लिए किया जाता है| मल्टीरोटर ड्रोन का उपयोग पर Photography और Home Delivery जैसे Business आदि के लिए अधिक किया जाता है|

Leave a Comment