(CMO) सीएमओ क्या है | CMO Full Form| सीएमओ कैसे बने जानिए पूरी जानकारी

आज हम आपको सीएमओ क्या है के बारे में बताएंगे| आप सभी ने सीएमओ नाम तो सुना ही होगा| लेकिन ये ज़रूरी नहीं हैं के यदि आपने सीएमओ नाम सुना हैं| तो आपको सीएमओ की सारी जानकारी भी मालूम होनी चाहिए| जिन लोगो ने सीएमओ नाम सुना हैं| और वो इसके बारे में सभी जानकारी चाहते हैं|सीएमओ क्या है in hindi

तो आज का हमारा ये लेख ऐसे लोगो के लिए ही बनाया गया है| आज कल हर छात्र पढ़ लिख कर भविष्य में कुछ बनना चाहता हैं| जैसे – कोई डॉक्टर कोई इंजीनियर,  डीएम DM, एसडीएम SDM आदि| इन्ही छात्रों में से बहुत से छात्र ऐसे भी होते हैं| जो सीएमओ (CMO) बनना चाहते हैं| वो छात्र हमारे इस लेख से बहुत सी ज़रूरी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं|

CMO की Full Form

(सीएमओ क्या है) इसके साथ साथ हम आपको C.M.O. की full form  भी बतायेगे| और सीएमओ को और क्या – क्या कहते हैं| या फिर ये कहे के सीएमओ को और किस – किस नाम से जाना जाता हैं|

C.M.O. full form  



C – Chief

M – Medical

O – Officer

सीएमओ को मुख्य चिकित्सा अधिकारी भी कहते हैं| और इसको वरिष्ठ सरकारी अधिकारी भी कहते हैं| तथा सीएमओ जिले स्तर पर माना जाने वाला  एक मुख्य चिकित्सा अधिकारी होता हैं|

पॉलिटेक्निक क्या होता हैं Polytechnic
नगर निगम, नगर पंचायत, नगर पालिका 

सीएमओ क्या है

अब हम बात करते हैं| C.M.O. Kya Hai , दोस्तों सीएमओ एक मुख्य चिकित्सा अधिकारी होता हैं| इसको वरिष्ठ सरकारी अधिकारी भी कहते हैं| जो सरकारी अस्पतालों के मेडिकल विभाग के प्रमुख होते हैं| सार्वजनिक मामले को सुलझाना भी सीएमओ का काम होता हैं| सीएमओ का पद बहुत सम्मान वाला होता हैं| यदि आप सीएमओ बन जाते हैं| तो आपको लोगो की ज़रूरतों के बारे में ध्यान रखना होगा| तथा उनकी मदद करनी होगी|

यानी के यदि आप सीएमओ पद पर बैठ जाते हैं| या ऐसे कहे के आप एक चिकित्सा अधिकारी बन जाते हैं| तब आपको लोगो के स्वास्थ्य का ध्यान रखना होता हैं| क्योंकि आप एक चिकित्सा अधिकारी होते हैं| मुख्य अधिकारी मेडिकल छेत्र का एक ऐसा वरिष्ठ अधिकारी होता हैं| जो अपने छेत्र के सरकारी हॉस्पिटल के माध्यम से जनता को प्रदान की जाने वाली स्वास्थ्य देखभाल सेवाओं को देखता हैं| जिले स्तर के मेडिकल छेत्रो में सही तरीके से इलाज हो रहा हैं या नहीं ये चेक भी खुद सीएमओ ही करता हैं|

सीएमओ क्या है

C.M.O. कैसे बने

जो छात्र सीएमओ बनना चाहते हैं| वो 10th  या 12th  से ही सीएमओ के लिए तैयारी शुरू कर दे| कहने का मतलब हैं के 10th में अच्छे नम्बरों से पास होने के बाद 12th P.C.B. (Physics, Chemistry, Biology) या P.C.M. (Physics, Chemistry, Math) से करे| कियोकि सीएमओ बनने के लिए 12वी कक्षा में होना P.C.B. अनिवार्य होता हैं| आपको 12वी कक्षा में 55 %  या 60 % नम्बरो से उत्तीर्ण होना पड़ता हैं| तभी आप सीएमओ बनने के सपने देख सकते हैं| इसलिए आपको 10वी कक्षा से या 12 वी कक्षा से ही सीएमओ के लिए तैयारी करनी पड़ती हैं| यदि आप पीसीबी से 12वी में 60 % ले आते हैं|

सीएमओ से जुड़ी अधिक जानकारी

आपको मेडिकल छेत्र में जाने के लिए M.B.B.S.  Degree का Course करना होता हैं| एमबीबीएस डिग्री का कोर्स करने के लिए आपको Net Exam से गुज़रना पड़ता हैं| यदि आप नीट परीक्षा में पास हो जाते हैं| तभी आप M.B.B.S. में प्रवेश ले पाएंगे| और अगर आप नीट परीक्षा में अच्छे नम्बरो से पास हो जाते हैं| तो आपको अच्छे कॉलेज में एडमिशन मिल जाता हैं| एडमिशन मिलने के बाद आपको 4 साल का एमबीबीएस कोर्स पूरा करना होता हैं| 4 साल का ये कोर्स पूरा करने के बाद आपको 1 साल Internship course  का करना होता हैं|

सीएमओ बनने के लिए कौन सा एग्जाम होता हैं 

एमबीबीएस डिग्री का कोर्स करके और इंटर्नशिप करके आपको U.P.S.C. का C.M.S. Exam Qualified  करना आवश्यक होता हैं| यदि आप यूपीएससी की सीएमस परीक्षा पास कर लेते हैं| तब आप एक मेडिकल ऑफिसर बन जाते हैं| C.M.O. officer बनने के लिए मेडिकल ऑफिसर बनना अनिवार्य होता हैं| मेडिकल ऑफिसर बनने के कुछ सालो तक आपको काम करना होगा| ताकि आपको इस छेत्र में अच्छे से अनुभव हो सके|

U.P.S.C की C.M.S. परीक्षा में कितने पेपर होते हैं

M.B.B.S. Course को पूरा करने के बाद सीएमओ बनने के लिए आपको U.P.S.C. की C.M.S. परीक्षा पास करनी होती हैं| इस परीक्षा में कुल दो पेपर होते हैं| लेकिन इन पपेरो को पास करने के लिए आपको कड़ी मेहनत करनी पड़ती हैं| ये दो पेपर होते हैं| प्रतियेक पेपर 250 अंक का होता हैं| इस परीक्षा में सभी Objective type  के Question  होते हैं| तथा इनको करने के लिए लिए दो घंटे का समय निर्धारित किया गया हैं| साथ ही आपको बता दे की इस परीक्षा में Negative marking  होती हैं| इसलिए इस परीक्षा को पास करने के लिए आपको शुरुआत से ही बहुत मेहनत करने की आवश्यकता होती हैं| तभी आप ये परीक्षा पास कर पाते हैं|

डिप्लोमा क्या होता है | What is Diploma Course

C.M.O. officer की योग्यता

  • आपको 12वी पास होना चाहिए| वो भी P.C.B. यानी (Physics, Chemistry, Biology) से|
  • 12वी में P.C.B. से आपके 60% नम्बर होने अनिवार्य हैं|
  • 12वी कक्षा उत्तीर्ण करने के बाद आप M.B.B.S. में एडमिशन ले सकते हैं| एमबीबीएस में एडमिशन लेने के लिए आपको नीट की परीक्षा पास करनी होती हैं|
  • 4 साल का एमबीबीएस कोर्स पूरा करने के बाद आपको 1 साल का इंटर्नशिप कोर्स करना होता हैं|
  • मुख्य चिकित्सा अधिकारी बनने के लिए आपको एमबीबीएस और इंटर्नशिप पूरा करने के बाद U.P.S.C. की C.M.S. परीक्षा में पास होना पड़ता हैं|
  • इन सबके बाद आपको मेडिकल ऑफिसर के रूप में कुछ साल काम करना पड़ता हैं| ताकि आपको इस छेत्र में अच्छे से अनुभव हो सके| आपके अच्छे अनुभव से आपको जल्द ही सीएमओ पद पर प्रमोशन मिल जाता हैं|
  • उम्मीदवार को English language अच्छे से आनि चाहिए|

सीएमओ के कार्य

  • सीएमओ का कार्य होता हैं| की वह अपने जिले के लोगो को अच्छी से अच्छी चिकत्सा सेवा उपलब्ध करा सके|
  • जिले में जितनी भी मेडिकल को लेकर एक्टिविटी होती हैं| वो सीएमओ की निगरानी में ही होती हैं|
  • जिस भी जिले में आप पद ग्रहण किये हुए हैं| उस जिले की सारी जानकारी जैसे – उस जिले में चिकित्सा व्यवस्था किसी चल रही हैं| मेडिकल स्टोर के मालिक कैसी दवाइयों का वितरण कर रहे हैं| झोलाछाप डॉक्टर कहि किसी की जान तो नहीं ले रहे|
  • मुख्य चिकित्सा अधिकारी हॉस्पिटल मॅनेजमेंट, पेशेंट की देखभाल करना तथा प्रशासन आदि से संबंधित कार्यो की देखरेख करता हैं|

आयु सीमा

  • सीएमओ बनने के लिए भारत सरकार द्वारा आयु निर्धारित की गयी हैं| 
  • उम्मीदवार की आयु न्यूनतम 25  वर्ष और अधिकतम 35  वर्ष होनी चाहिए|
डिप्लोमा क्या होता है
Paramedical Kya Hai
NEET kya hai 

Conclusion निष्कर्ष

दोस्तों आज के हमारे आर्टिकल से आपको बहुत अच्छे से समझ आ गया होगा| की सीएमओ किया होता हैं| और सीएम कैसे बने| C.M.O. बनने के लिए किया पढ़ाई करनी चाहिए| उम्मीदवार की किया योग्यता होनी चाहिए| और यदि आप शिक्षा को लेकर या और भी क़िसी बात के बारे में विस्तारपूवर्क जानकारी चाहते हैं तो हमे कमेंट करके बता सकते हैं|

Leave a Comment