Ram Lalla Idol: 5 साल के बच्चे के रूप में दिखेंगे रामलला|

Ram Lalla Idol : अयोध्या से रामलला की पहली तस्वीर सामने आ गई है प्रभु राम की मूर्ति की पहली झलक का भक्ति काफी लंबे समय से इंतजार कर रहे थे और अब उनके इंतजार की घड़ी खत्म हो चुकी है| गुरुवार को गर्भ ग्रह में रामलाल की मूर्ति स्थापित की गई है कि आज के लेख में हम आपको रामलाल मूर्ति के बारे में जानकारी प्रदान करने वाले हैं| यदि आप भी Ram Lalla Idol से संबंधित जानकारियां प्राप्त करना चाहते हैं तो आप हमारे लेख को ध्यान पूर्वक पढ़ें क्योंकि इस लेख में Ram Lalla Idol के बारे में अधिक जानकारियां प्रदान की गई है|

Ram Lalla Idol
राम मंदिर कैसा था
अयोध्या राम मंदिर आरती पास बुकिंग शुरू|
Mission Indradhanush क्या है

Ram Lalla Idol

रामलला की अति सुंदर प्रतिमा की पहली तस्वीर सामने आ गई है 22 जनवरी को श्री राम की जी प्रतिमा को स्थापित किया जाएगा उसकी झलक सामने आई है हालांकि श्री राम के भक्तों को थोड़ा और इंतजार करना होगा क्योंकि भगवान का चेहरा वह हाथ पीले वस्त्र से ढका गया है| शरीर पर श्वेत यानी सफेद रंग के वस्त्र भी लपेट गए हैं मूर्ति काले रंग की शालिग्राम पत्थर से बनाई गई है जिसे कर्नाटक के मूर्तिकार अरुण योगीराज ने तैयार किया है| रामलला की प्रतिमा को इस प्रकार से निर्मित किया गया है कि इसमें कई और प्रतिमाएं भी दिखाई दे रही है|

रामलला इस रूप में देखे भक्तों का दर्शन

रामलला की जी मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा होनी है उसे मूर्ति की लंबाई 51 इंच है और इसका वजन 1.5 टन है राम लाल का मतलब भगवान राम का बाल रूप है| इसलिए भगवान राम लाल की मूर्ति को उनके बाल रूप में बनाया गया है जिसमें भगवान राम को पांच वर्ष के बच्चे के रूप में दिखाया गया है| भगवान के कोमल चरणों को पत्थर से बने कमल पर विराजमान दिखाया है जब मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा हो जाएगी तब भगवान कमल पर विराजमान होकर भक्तों को आशीर्वाद देते हुए दिखाई देंगे|

G20 क्या है 
गार्ड ऑफ ऑनर क्या होता है 

मधुर मुस्कान और माथे पर तिलक

राम लाल की प्रतिमा में माथे पर तिलक नजर आ रहा है साथ ही चेहरे पर मधुर मुस्कान है मैसूर के मूर्तिकार अरुण योगीराज द्वारा बनाई गई 51 इंच की रामलाल की मूर्ति को कल रात गर्भ गृह में लाया गया था| आगामी 22 जनवरी को होने वाले अभिषेक समझ से पहले रामलाल की यह तस्वीर सामने आई है रामलाल की दो तस्वीर सामने आए हैं जिसमें एक में रामलाल की प्रतिमा की पूरी झलक दिखाई दे रही है जबकि दूसरी में उनके चेहरे की क्लोज तस्वीर है|



प्रतिष्ठा समारोह से जुड़े पुजारी अरुण दीक्षित ने बताया कि भगवान राम की मूर्ति को बुधवार दोपहर में वैदिक मंत्रोचार के बीच गर्भ गृह में रखा गया प्रधान संकल्प ट्रस्ट के सदस्य अनिल मिश्रा द्वारा किया गया इस संकल्प की भावना यह है कि भगवान राम की प्रतिष्ठा सभी के कल्याण के लिए, राष्ट्र के कल्याण के लिए, मानवता के कल्याण के लिए और उन लोगों के लिए भी की जा रही है जिन्होंने इस कार्य में अपना योगदान दिया है इसके अलावा अन्य अनुष्ठान भी आयोजित किए गए हैं और ब्राह्मणों को वस्त्र भी दिए गए हैं|

मूर्ति की स्थापना में लगे इतने घंटे

राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह से पहले भगवान राम की मूर्ति की गर्भ ग्रह के अंदर रखी गई है जानकारी के अनुसार इस मूर्ति को स्थापित करने के लिए कम से कम 4 घंटे का समय लगा है| इस मूर्ति को स्थापित करने के लिए पूरे विधि विधान और मंत्र 4 किया गया है| राज जन्मभूमि तीर्थ यह क्षेत्र ट्रस्ट ने एक पर ऐलान करते हुए जानकारी प्रदान की है कि अयोध्या में जन्मभूमि स्थित राम मंदिर में गुरुवार के दिन 12:30 बजे राममूर्ति का प्रवेश हुआ था इसके अलावा आपको बता दे कि केंद्र सरकार ने रामलाल की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा के मौके पर 22 जनवरी को दोपहर 2:30 बजे तक आधे दिन के अवकाश का ऐलान किया है|

प्राण प्रतिष्ठा समारोह 16 जनवरी से हो चुके शुरू

सभी जानकारी के साथ-साथ आपको जनवरी से ही अनुष्ठान शुरू हो गए हैं सबसे पहले श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र की तरफ से नियुक्त किए गए यजमान ने समारोह की शुरुआत की इसके बाद 17 जनवरी को 5 वर्ष के रामलीला की मूर्ति के साथ एक काफिला अयोध्या पहुंचा और रामलाल की मूर्ति को क्रेन की मदद से गर्भ गृह में स्थापित किया गया|

18 जनवरी को गणेश अंबिका पूजा, वरुण पूजा, मंत्र का पूजा, ब्राह्मण वरण और वास्तु पूजा के साथ औपचारिक अनुष्ठान शुरू हुए|

आज 19 जनवरी को पवित्र अग्नि जुलाई गई जिससे नवग्रह की स्थापना और हवन किया जाएगा|

कल 20 जनवरी को राम जन्मभूमि मंदिर के गर्भ ग्रह को सरयू जल से धोया जाएगा इसके बाद वास्तु शांति और अन्ना दिवस अनुष्ठान होगा|

21 जनवरी को रामलाल की मूर्ति को 125 कलशो के जल से स्नान कराया जाएगा अनुष्ठान के आखिरी दिन यानी

22 जनवरी को सुबह की पूजा के बाद दोपहर में मार्ग शिरा नक्षत्र में रमा की मूर्ति का अभिषेक किया जाएगा|

प्राण प्रतिष्ठा से पहले रामलला की आंखें नहीं खोली जा सकेगी

श्री राम जन्मभूमि मंदिर के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास ने शनिवार को कहा कि रामलला की मूर्ति की आंखों का अनावरण प्राण प्रतिष्ठा समारोह के बाद ही होगा|

22 जनवरी को होने वाला श्री रामलला की प्राण प्रतिष्ठा एक महत्वपूर्ण कार्यक्रम होगा अरुण योगीराज द्वारा तैयार की गई मूर्ति मंदिर के गर्भगृह के अंदर स्थित थी गुरुवार को स्थापना समारोह के दौरान गर्भ गिरे में घूंघट में ढकी हुई मूर्ति की पहली तस्वीर सामने आई है|  

प्रतिमा के पार्श्व भाग में उकेरी गई है कुछ और प्रतिमाएं

  • रामलला की मूर्ति के पार्श्व भाग में शीला पर आकृतियां अकेली गई है महामंडलेश्वर संत श्री सत्तू अजी महाराज बताते हैं की प्रतिमा के पार्श्व भाग को प्रभा कहते हैं|
  • सामने से मूर्ति को देखें तो बाई तरफ ओम की आकृति उकेरी नजर आती है|
  • वही दाएं तरफ स्वास्तिक, शंखा और चक्र बने नजर आते हैं|
  • शीला और परसों भाग दोनों तरफ से जहां से शुरू होता है वहां कुछ और प्रतिमाएं ओके हुई दिखाई देती हैं|
  • माना जा रहा है कि शीला के पार्श्व भाग में नीचे की ओर एक तरफ हनुमान जी और दूसरी तरफ गरुड़ भगवान की प्रतिमा बनाई गई है|

रामलला की प्रतिमा के बारे में

  • प्रतिमा 4.24 फीट ऊंची है
  • प्रतिमा 3 फीट चौड़ी है
  • प्रतिमा का वजन लगभग 200 किलोग्राम है

Ram Lalla IdolFAQ’s

राम मंदिर कौन से राज्य में स्थित है?

उत्तर प्रदेश

अयोध्या का दूसरा नाम क्या है?

अयोध्या का दूसरा नाम कुशल है|

रामलला की मूर्ति कितनी ऊंची है?

रामलला की मूर्ति की ऊंचाई लगभग 51 इंच है|

अयोध्या में राम मंदिर का उद्घाटन कब होगा?

22 जनवरी को|

अयोध्या में राम मंदिर कितने बीघा में बन रहा है?

107 एकड़ के क्षेत्र में अयोध्या राम मंदिर बन रहा है|

Leave a Comment