Petrol Pump Strike, News, Date, Today, Drivers Strike News in Hindi: क्या है नया हिट एंड रन कानून

Petrol Pump Strike: शहर के अधिकतर पेट्रोल पंप पर ड्राइवर की हड़ताल की वजह से पेट्रोल और डीजल खत्म हो चुका है ड्राइवर ने पेट्रोल और डीजल के टैंकर चलाना बंद कर दिए हैं जिससे पंप तक पेट्रोल डीजल पहुंच नहीं सका यह हड़ताल 1 से 3 जनवरी के लिए की गई है इसका एक लेटर सोशल मीडिया पर वायरल भी हो रहा है जिसमें ड्राइवर संगठन ने हड़ताल की घोषणा की है|

केंद्र सरकार हिट एंड रन केस में नया कानून लाई है जिसके मुताबिक दुर्घटना में मृत्यु होने पर ड्राइवर को 10 साल की सजा और ₹7 लाख जुर्माना होगा| ऐसे में बहुत से ऐसे लोग है जो Petrol Pump Strike के बारे में जानना चाहते हैं इसलिए आज हम आपको इस लेख के माध्यम से पेट्रोल पंप स्ट्राइक के बारे में सभी जानकारियां प्रदान करने वाले हैं|

Maulik Adhikar Kya Hai
संविधान क्या है
दल बदल कानून क्या है
Petrol Pump Strike

Petrol Pump Strike

नए साल के पहले ही दिन से कई राज्यों में पेट्रोल डीजल के लिए बवाल मच गया ट्रक को टैंकरों ने भारतीय न्याय संहिता में ले गए हिट एंड रन के प्रावधान के विरोध में चक्का जाम कर दिया इससे पेट्रोल और डीजल की सप्लाई प्रभावित हो रही है हिमाचल के कई पेट्रोल पंप तो 1 जनवरी को सुख नजर आए इस बीच जहां भी पेट्रोल और डीजल उपलब्ध है उन पंपों पर लंबी लाइन लग गई है| इसकी वजह से यह डर है कि कहीं यहां भी पेट्रोल और डीजल खत्म ना हो जाए हिमाचल प्रदेश, पंजाब, यूपी, हरियाणा, दिल्ली, उत्तराखंड, एमपी और राजस्थान एवं गुजरात समेत देश के सभी राज्यों में यही हाल है|

कहीं-कहीं तो का जाम लगा हुआ दिखाई दिया और टैंकर कतार लगाए खड़े हैं इन सभी लोगों का कहना है की हिट एंड रन का कानून बेहद खतरनाक है| इसमें हादसे के बाद ड्राइवर के खुद या गाड़ी समेत भागने पर 10 साल तक की सजा और 7 लाख रुपए तक के फाइन का प्रावधान है|



ड्राइवर कैब चालक एवं अन्य कमर्शियल गाड़ियां चलाने वालों का कहना है कि ऐसी स्थिति में कोई हादसा हुआ तो हमारा शोषण होगा| कई ड्राइवर ने कहा कि हम कुछ भी कर लेंगे लेकिन यह पैशा छोड़ ही देंगे| जो पंजाबी ट्रक ऑपरेटर्स यूनियन के अध्यक्ष हैपी सिद्धू ने कहा कि यह काला कानून है जो ट्रक वालों को बर्बाद कर देगा|

UNHRC Kya Hai 
क्या आस-पास कोई पेट्रोल पंप है

चार दिन पेट्रोल पंप बंद होने के बाद कितनी सच Drivers Strike News India Today

ड्राइवर संगठन ने एक से 3 जनवरी तक हड़ताल करने का निर्णय लिया है| 2 जनवरी हो चुका है| 3 जनवरी का दिन बाकी है| अभी शहर के अधिकांश पेट्रोल पंप पर पेट्रोल खत्म हो चुका है और कलेक्टर इलेया राजा टी ने खुद मोर्चा संभाल लिया है| कलेक्टर के मुताबिक पेट्रोल और डीजल की सप्लाई कहीं भी नहीं रोकी जाएगी सभी जगह यह नियमित रूप से मिलता रहेगा जनता परेशान ना हो|

चार दिन तक पेट्रोल पंप बंद रहने की बात पूरी तरह से गलत है जो पेट्रोल पंप पर पेट्रोल पहुंच रहे हैं| मध्य प्रदेश पेट्रोल पंप डीलर्स एसो. के अध्यक्ष अजय सिंह ने बताया कि मिल कंपनियों और प्रशासन के साथ मिलकर डीलर निजी टैंकरों से सप्लाई जारी रखने में जुटे हैं उन्होंने स्वीकार किया कि दो तीन दिन की सप्लाई रखने वालों को ही दिक्कत हो सकती है|

स्कूल दफ्तर भी बंद रहेंगे क्या है सच

स्कूल दफ्तर भी चार दिन बंद रहने की बात सोशल मीडिया पर चल रही है| कहीं स्कूलों ने भी पेरेंट्स को जानकारी दी है कि वह स्कूल बंद रखेंगे| हालांकि स्कूलों को बंद करने का कलेक्ट करने कोई आदेश जारी नहीं किया है वहीं दफ्तर और अन्य कामकाज बंद रहने की बात भी गलत चलाई जा रही है स्कूल बंद रहेंगे या नहीं यह जानकारी सीधे प्रबंधन से ही लेना ठीक रहेगा|

700 टैंक करो ने पेट्रोल डीजल की आपूर्ति रोक दी

अधिकतर पेट्रोल पंप संचालकों का कहना है कि मंगलवार को उनके यहां पेट्रोल भी समाप्त हो जाएगा| को पेट्रोलियम ड्राइवर एंड हेल्पर वेलफेयर सोसाइटी के आह्वान पर तेल टैंकरों के चालक रविवार से हड़ताल पर चले गए हैं| जालंधर में विभिन्न तेल कंपनियों से जुड़े करीब 700 टैंकरों ने पेट्रोल डीजल की आपूर्ति रोक दी है|

जालंधर में इंडियन ऑयल के 400, हिंदुस्तान पेट्रोलियम के 100, भारत पेट्रोलियम के 200 टैंकर विभिन्न जिलों में पेट्रोल में डीजल की सप्लाई करते हैं| हड़ताल के कारण अब पेट्रोल व डीजल के आपूर्ति टॉप हो गई है| जालंधर में फिरोजपुर, सरहिंद, मोहाली, चंडीगढ़, मोगा, अमृतसर, तरनतारन, फिरोजपुर, जगराओं, नवांशहर आदि में पेट्रोल व डीजल की सप्लाई होती है|

इंडियन गैस सप्लाई करने वाले भी हड़ताल पर गए

इंडेन गैस की सप्लाई करने वाले ऑपरेट भी हड़ताल पर चले गए हैं| बताया जा रहा है कि गैस की आपूर्ति नहीं होने पर जल्द ही इसका असर भी देखने को मिलेगा इस हड़ताल के कारण लोगों को कई दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है|

क्या है नया कानून

केंद्र सरकार ने नया कानून बनाया है कि दुर्घटना की स्थिति में ट्रक और बस ड्राइवर को 10 साल की सजा और 7 लख रुपए तक का जुर्माना देना होगा| इसके विरोध में देशभर में ट्रक और बस ऑपरेटर उन्हें हड़ताल शुरू कर रखी है| तेल टैंकर यूनियन के हड़ताल पर जाने से जल्द ही इसमें बस ऑपरेटर भी शामिल हो सकते हैं इससे यातायात सेवाएं भी प्रभावित हो सकती है|

FAQ’s

भारत में पेट्रोल की हड़ताल क्यों है?

केंद्र सरकार के नए हिट एंड रन कानून के विरोध में ट्रैकों और बसों के ड्राइवर हड़ताल पर है जिसके कारण कई जगहों पर पेट्रोल और डीजल की कमी हो गई है|

क्या ड्राइवर की हड़ताल खत्म हो गई है?

जी हां ट्रक ड्राइवर से संगठन द्वारा बुलाई गई हड़ताल वापस ले ली गई है|

Leave a Comment