Independence Day Speech in Hindi 2023- स्वतंत्रता दिवस पर भाषण, 15 अगस्त निबंध

जाने स्वतंत्र्ता दिवस के लिए बेस्ट स्पीच कैसे तैयार करे, इस स्पीच की शुरुआत कैसे करे, और Independence Day speech भाषण की बेस्ट लाइनों के बारे में

आप सभी ने Independence Day का नाम तो सुना ही होगा|  15 अगस्त 1947 को हमारा देश ब्रटिश हुकूमत से आज़ाद हुआ था| हमारे देश को आज़ाद 74 वर्ष हो चुके हैं| और कुछ ही दिनों बाद हमारा देश 75 वां सवतंत्रता दिवस मनाने जा रहा हैं| स्वतंत्र्ता दिवस भारत में एक राष्ट्रीय पर्व की तरह मनाया जाता हैं| भारत के सभी छोटे बड़े लोग इस त्योहार को बड़ी उत्साह और देशभक्ति के साथ मनाते हैं| इस बार भी 75वां स्वतंत्रता दिवस बहुत उत्साह के साथ मनाया जाने वाला हैं| आज़ादी के टाइम हमारे देश के बहुत से सैनिक शहीद हुए| स्वतंत्र्ता दिवस पर हम इन्ही महान योद्धा और सेनिको को याद करते हैं| और इनकी स्मृति का सम्मान भी करते हैं| ये वही योद्धा और सैनिक हैं जिन्होंने भारत की  आज़ादी के लिए अपने प्राण त्याग दिए| Independence Day speech

independence day

अब जैसे- जैसे स्वतंत्र्ता दिवस का समय करीब आरहा हैं| छात्र छात्राये सोच रहे हैं| की इस बार हम Independence Day पर कैसी Speech तैयार करे|  जो सभी को बहुत पसंद आये तो इस लेख में हम आपको Best Independence Day speech तैयार करने का तरीका बतायेगे|सामान्य औपचारिक अभ्यास में, भारत के प्रधान मंत्री दिल्ली में लाल किले से झंडा फहराते हैं और उसके बाद इस देश के लोगों के रूप में उपलब्धियों और गर्व के क्षणों पर भाषण देते हैं। ये दिन बोहत ही ख़ुशी भरा और अच्छा होता है

ये भी पढ़ेभारत में राष्ट्रपति की शक्तियां 
ये भी पढ़ेभारत में कुल कितने राज्य हैं

जाने 15 अगस्त के बारे में जानकारी

15 अगस्त 1947 को हमारा देश आज़ाद हुआ था| आज़ादी के वक्त भारत के बहुत से महान सैनिक मारे गए थे| जिन्हे स्वतंत्र्ता के शुभ अवसर पर याद किया जाता हैं| इससे पहले हमारा देश ब्रटिशर्स का गुलाम माना जाता था| ब्रटिशर्स के चंगुल से हमे 15 अगस्त 1947 को आज़ादी मिली आज़ादी के बाद से और अब तक हमारा भारत देश बहुत अधिक उन्नति कर चूका है| और लगातार हमारा देश उन्नति कर रहा हैं| ये सभी भारतीयों के लिए गर्व की बात हैं|



ये भी पढ़े- भारत के राष्ट्रीय राजमार्ग List of National Highways

स्वतंत्र्ता दिवस पर सभी बाज़ार, कार्यालय, कारखाने और फैक्टरी आदि बंद रहते हैं| क्योकि इस दिन सरकारी छुट्टी होती हैं| तथा 15 अगस्त के दिन सभी स्कूल, कॉलेज और संस्थानों में स्वतंत्र्ता के बारे में भाषण देने, झंडा फहराने और कुछ संस्कृतिक प्रोग्राम करने के बाद जल्द ही छुट्टी कर दी जाती हैं| स्कूल, कॉलेज, में ये पर्व बहुत ही अच्छे से मनाया जाता हैं| इस दिन स्कूल कॉलेज के कई छात्र- छात्रा अलग अलग चीज़ो में भाग लेते हैं| जैसे- कुछ छात्र देशभक्ति गीत सुनाते हैं, कुछ छात्राये नृत्य करती हैं| तो वही कुछ छात्र -छात्रा ऐसे भी होते हैं| जो स्वतंत्र्ता दिवस पर Speech सुनाते हैं|

वर्तमान में कौन क्या हैभारत के उपराष्ट्रपति कौन है भारत के राज्यपाल कौन है

ऐसे करें भाषण की शुरुआत

सभा में मौजूद सभी बड़ों को मेरा प्रणाम आदरणीय प्रधानाचार्य महोदय और मेरे प्रिय शिक्षक आप सभी को स्वतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं मैं आज आप सभी के सामने आजादी के इस पावन पर्व पर अपने विचार प्रस्तुत करने आई हूं आज देश ने आजादी के 75 वर्ष पूरे कर लिए हैं और हम सभी इस स्वतंत्रता के लिए सभी सेनानियों को नमन करते हैं| 15 अगस्त 1947 में भारत को एक आजाद राष्ट्र के रूप में पहचान मिली थी इस पहचान के लिए देश के सेनानियों ने अपना सब कुछ न्योछावर कर दिया यूं तो आजादी का यह उत्सव हर घर में हर संस्थान में देखने को मिलता है लेकिन नेशनल लेवल पर दिल्ली के लाल किले पर कार्यक्रम आयोजित किया जाता है|

इस दिन देश के प्रधानमंत्री लाल किले के प्राचीर से देश के लोगों का अभिवादन स्वीकार करते हैं और झंडा फहराते हैं| इसके बाद प्रधानमंत्री देश को संबोधित करते हैं और भाषण देते हैं भाषण सुनने के लिए लाल किले पर लाखों लोगों की भीड़ उमड़ जाती है| साथ ही सेना की टुकड़ियों को प्रधानमंत्री सलामी देते हैं सेना का बैंड पर इस खास दिन को और ज्यादा खूबसूरत बनाता है|

भाषण समाप्त कैसे करें

साथियों आइए हम सब मिलकर तिरंगे को नमन कर आजादी का यह महोत्सव मनाते हैं और सभी सेनानियों के बलिदान को याद करते हैं| अंत में मैं आप सभी को आजादी के पर्व की ढेर सारी शुभकामनाएं देना चाहती हूं धन्यवाद ‘जय भारत’  ‘जय हिंद’

Independence Day Speech in Hindi

अब हम आपको Independence Day के लिए हिंदी में स्पीच तैयार करने के बारे में बतायेगे| स्वतंत्र्ता दिवस पर हिंदी में स्पीच देने के लिए आपको बोलना होगा की|

मैं आप सभी को स्वतंत्र्ता दिवस की हार्दिक बधाई / शुभकामनाये देना चाहती /चाहता हूँ| ये मेरा सुभाग्य हैं| की आज मुझे स्वतंत्र्ता दिवस के शुभ अवसर पर आप सभी के बीच कुछ बोलने का मौका मिला हैं| में आज अपने आप को बहुत ही सम्मानित मेहसूस कर रहा हूँ / कर रही हूँ| 15 अगस्त के दिन हम अपने महान सेनिको को याद करते हैं| जिन्होंने देश की आज़ादी के लिए अपने प्राणो को त्याग दिया| उन महान सेनिको की वजह से ही आज हमारा देश आज़ाद हैं| और हम एक आज़ाद भारत देश के निवासी हैं| ये हमारे लिए बेहद गर्व की बात हैं|

स्वतंत्र्ता आंदोलन के समय गाँधी जी ने बहुत से महत्वपूर्ण काम और बहुत से आंदोलन भी चलाये| महात्मा गाँधी ने स्वतंत्र्ता आंदोलन के समय नमक कानून को तोडा, डंडी यात्रा निकाली| असहयोग आंदोलन से अंग्रेज़ो को परस्त किया| भारत को आज़ादी दिलाने में महात्मा गांधी जी ने बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभायी| यही कारण हैं| की आज भारत का बच्चा- बच्चा महात्मा गाँधी को जानता हैं| और उनका सम्मान करता है|

independece day

स्वतंत्र्ता दिवस का इतिहास

15 अगस्त वर्ष 1947 को भारत के इतिहास को स्वर्ण अक्षरों में लिखा गया| देश के आज़ाद होने के बाद 15 अगस्त को हमारे देश के प्रथम प्रधान मंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू ने दिल्ली के लाल किले पर झंडा फेहराया था| तभी से ही हर साल जो भी देश का प्रधान मंत्री होता हैं| वो दिल्ली के लाल किले पर झंडा फेहराते हैं| और राष्ट्रीयगान गाते हैं| और इसके बाद ही सभी शहीद स्वतंत्र्ता सेनानियों को 21 तोपों की सलामी दी जाती |हैं देश के प्रधान मंत्री देशवासियो को अपने भाषण दुवारा स्वतंत्र्ता सेनानियों को सम्बोधित भी करते हैं| और अपनी सेना दुवारा परेड मार्च निकालते हैं| इस दिन भारत के सभी देशवासियो के मन में देशभक्ति के साथ- साथ उनके मन में जोश की भावना भी रहती हैं|   

ये भी पढ़े- Lok Sabha or Rajya Sabha me Antar
ये भी पढ़े- गार्ड ऑफ ऑनर क्या होता है

हिन्दी स्पीच तैयार करने के लिए लाइने किस प्रकार लिखे

  • हिन्दी में स्पीच तैयार करने के लिए आपको बहुत सी बातो को ध्यान में रखना चाहिए|
  • हमारा देश 15 अगस्त 1947 को आज़ाद हुआ था| आज ही के दिन हमारे देश को ब्रटिश शासको से आज़ादी मिली|
  • आज़ादी से पहले हमारा भारत ब्रटिशर्सो का गुलाम माना जाता था| यानी के आज़ादी से पहले भारत देश एक  ब्रिटिश उपनिवेश था|
  • आज़ादी के बाद जन्म लेने वाले को गर्व मेहसूस करना चाहिए|
  • हमे अपना संविधान भी आज़ादी के बाद ही मिला|
  • 1857 से 1947 तक हमारे कई महान नेताओ ने स्वतंत्र्ता सेनानियों के विद्रोह और बलिदान को देखा|
  • स्वतंत्र सेनानियों की बात करे तो महात्मा गाँधी, सुभाष चंद्र बॉस, चंद्र शेखर आज़ाद, अब्दुल कलाम आज़ाद, आदि| हज़ारो लाखो लोगो ने बलिदान दिया| हमें इन महान सेनिको को कभी नहीं भूलना चाहिए|
  • हमे स्वतंत्र भारत की भूमि पर पैदा होने पर गर्व समझना चाहिए| गर्व के साथ ही हमे अपने भाग्य की प्रशंसा करनी चाहिए|
  • स्वतंत्र्ता के शुभ अवसर पर राष्ट्रीय ध्वज लहराया जाता हैं| इससे हमारे मन में देशभक्ति की भावना भी जाग्रत होती हैं|
  • और इसके बाद राष्ट्रीय गान गया जाता हैं|

हिंदी की स्पीच तैयार करते समय हमे ये ध्यान रखना चाहिए की हमे इस स्पीच में हिंदी भाषा का ही प्रयोग करना चाहिए| इस स्पीच की भाषा बहुत सरल और सौम्य होनी चाहिए| और सबसे अहम बात ये हैं की स्पीच बहुत ही नरमी और सुकून से देनी चाहिए| यदि आप इन सभी बातो को ध्यान में रखकर ही हिंदी की स्पीच तैयार करते हैं| तो याद रखे आपकी स्पीच बहुत अच्छी  रहेगी| जिसे बोलकर या सुनाकर आप सभी का दिल जीत सकते हैं|  

स्वतंत्र्ता दिवस स्लोगन

यदि आप स्कूल, कॉलेज में पढ़ते हैं| तो आप अपने स्कूल, कॉलेज में स्वतंत्र्ता के शुभ अवसर पर सांस्कृतिक प्रोग्राम, देशभक्ति गीत, कविताये और स्पीच सुनाने के साथ साथ आप स्वतंत्र्ता दिवस पर कोई स्लोगन भी सुना सकते हैं| कुछ स्लोगन हम आपको  बताते हैं|

  • जैसे- अमर तिरंगा स्वाभिमान से दुनिया भर में डोलेगा,
  • जहा गिरेगा लहू हमारा वन्देमातरम बोलेगा|
  • ये तिरंगा और इसकी शान|
  • हमेशा याद दिलाएगा हमे उनका बलिदान|

इस प्रकार के और कोई भी स्वतंत्र्ता को लेकर आप स्लोगन सुना सकते हैं|

Conclusion

बताये दोस्तों और हमारे प्यारे छात्र -छात्रों  कैसा लगा हमारा Independence Day speech को लेकर लेख| बहुत सी जानकारी के साथ  इस लेख से आप आज ये भी जान गए होंगे की हिंदी में स्पीच कैसे तैयार करे| प्यारे छात्रों अगर आपको हमारा लेख पसंद आया हो| और ये लेख आपके लिए उपयोगी साबित हुआ हो| तो आप इसको अपने दोस्तों में ज़रूर शेयर करे| ताकि वो भी इस लेख से हिंदी में बहुत अच्छे से स्पीच तैयार कर सके|

FAQ’s

भारत कब आजाद हुआ?

15 अगस्त 1947 में भारत आजाद हुआ और भारत को एक आदत राष्ट्र के रूप में पहचान मिली थी|

‘’करो या मरो’’ नारा किसने दिया था?

महात्मा गांधी द्वारा ‘’करो या मरो’’ का नारा दिया गया था|

‘’स्वराज हमारा जन्मसिद्ध अधिकार’’ है यह नारा किसके द्वारा दिया गया?

‘’स्वराज हमारा जन्मसिद्ध अधिकार’’ है यह नारा बाल गंगाधर तिलक द्वारा दिया गया था|

‘’क्वाइट इंडिया स्पीच’’ किसने दिया था?

‘’क्विट इंडिया स्पीच’’ महात्मा गांधी ने 8 अगस्त 1942 को दिया था|

Leave a Comment