निमोनिया क्या है? कारण, लक्षण, उपचार और बचाव| What is Pneumonia in Hindi

Pneumonia Kya Hai: आज के लेख में हम आपको निमोनिया क्या है के बारे में बताने वाले हैं| यदि आप निमोनिया से संबंधित सभी जानकारियां प्राप्त करना चाहते हैं तो आज का हमारा आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित हो सकता है क्योंकि आज के आर्टिकल में हम आपको Pneumonia Kya Hai के बारे में बताने वाले हैं निमोनिया क्या है के अलावा हम आपको इसके लक्षण उपचार, बचाव के उपाय आदि जानकारियां भी प्रदान करेंगे| इन सभी जानकारी को जानने के लिए हमारे साथ अंत तक बन रहे|

Eye Flu Kya Hai
Hepatitis B Kya Hai 
Cyst Kya Hota Hai 

Pneumonia Kya Hai – What is Pneumonia

निमोनिया आपके फेफड़ों में बैक्टीरिया, वायरस या कवक के गर्म होने वाला एक संक्रमण है| निमोनिया के कारण आपके फेफड़ों के ऊतकों में सूजन हो जाती है और आपके फेफड़ों में तरल पदार्थ या मवाद पैदा हो सकती है| बैक्टीरियल निमोनिया आमतौर पर वायरल निमोनिया से अधिक गंभीर होता है जो अक्सर अपने आप ठीक हो जाता है|

निमोनिया एक या दोनों फेफड़ों को प्रभावित कर सकता है आपके दोनों फेफड़ों में होने वाले निमोनिया को द्विपक्षीय या डबल निमोनिया कहा जाता है|

Hair Transplant कैसे होता है
डायबिटीज (Diabetes) क्या है 

निमोनिया कैसे होता है?

निमोनिया एक ऐसा संक्रमण है जो बैक्टीरिया, वायरस कवक या अन्य जीवों सहित विभिन्न प्रकार के सूक्ष्मजीवों के कारण हो सकता है| ऐसे कई तरीके हैं जिनसे रोगाणु फेफड़ों में प्रवेश कर सकते हैं और निमोनिया का कारण बन सकते हैं:



श्वास के मार्ग से: जब कोई संक्रमित व्यक्ति बिना मुंह ढके खासता या छींकता है तो रोगाणु फेफड़ों में जा सकते हैं|

आकांक्षा: यदि कोई व्यक्ति संक्रमित व्यक्ति के भोजन, पेयजल या उल्टी के संपर्क में आता है तो उसे निमोनिया हो सकता है|

रक्त प्रवाह: दुर्लभ मामलों में बैक्टीरिया या वायरस रक्त प्रवाह के माध्यम से शरीर के दूसरे हिस्सों से फेफड़ों में फैल जाते हैं|

निमोनिया के लक्षण

निमोनिया के कई लक्षण है जिनके बारे में नीचे बताया गया है|

  • खांसी, इससे बलगम या कैफ पैदा हो सकता है जो हरा, पीला या खूनी होता है|
  • बुखार, पसीना और ठंड लगना|
  • सांस की तकलीफ या सांस लेने में कठिनाई विशेष रूप से किसी परिश्रम के कामों में|
  • सीने में दर्द जो सांस लेने या खांसने से बढ़ जाए|
  • थकान और कमजोरी|
  • भूख में कमी|
  • दिल की धड़कन तेज होना और तेजी से सांस लेना|
  • भ्रम, विशेष रूप से वृद्धो में|

निमोनिया से पारित कुछ लोगों को मतली, उल्टी और दस्त का भी अनुभव हो सकता है, लेकिन यह लक्षण छोटे बच्चों में पाए जाते हैं|

Pneumonia से बचने के उपाय

निमोनिया से बचने के कई उपाय हैं जिनमें से कुछ उपाय के बारे में नीचे बताया गया है|

वैक्सीन: अपने डॉक्टर से परामर्श ले की कौन से तक आपके लिए उपयुक्त है|

अच्छे स्वच्छता: स्वच्छता का आभास करना, जैसे अपने हाथों को बार-बार धोना, खासते या छींकते समय अपना मुंह और नाक ढकना और बीमार लोगों के संपर्क से बचाना|

धूम्रपान छोड़ें: धर्मपान आपके फेफड़ों को नुकसान पहुंचा सकता है और आपको निमोनिया सहित शोषण संक्रमण के प्रति अधिक संवेदनशील बना सकता है|

स्वस्थ रहें: एक स्वस्थ जीवन शैली को बनाए रखना जिसमें पर्याप्त नींद लेना, संतुलित आहार खाना, नियमित व्यायाम करना और तनाव का प्रबंध करना शामिल है इम्यूनिटी को बढ़ाना निमोनिया के जोखिम को कम कर सकता है|

अंतर्निहित स्थितियों को प्रबंध करें: मधुमेह या पुरानी फेफड़ों की बीमारी जैसी अंतर्निहित चिकित्सा स्थितियों का प्रबंध भी आपके निमोनिया के विकास के जोखिम को कम करने में मदद करता है|

वायरस और बैक्टीरिया निमोनिया में क्या अंतर है?

सभी निमोनिया आपके फेफड़ों में संक्रमण के कारण होने वाली सूजन है, आपके पास अलग-अलग लक्षण हो सकते हैं जो इस बात पर निर्भर करता है कि मूल कारण वायरस, बैक्टीरिया या कवक है या नहीं|

वायरल निमोनिया की तुलना में बैक्टीरिया निमोनिया अधिक सामान्य और अधिक गंभीर होता है| इसके लिए अस्पताल में भर्ती रहने की अधिक संभावना है प्रदाता एंटीबायोटिक दावों से बैक्टीरियल निमोनिया का इलाज करते हैं|

वायरल निमोनिया फ्लू जैसे लक्षणों का कारण बनता है और इसके अपने आप ठीक होने की अधिक संभावना होती है आमतौर पर आपको वायरल निमोनिया के लिए विशिष्ट उपचार की आवश्यकता नहीं होती है|

बच्चों में निमोनिया का घरेलू उपचार

कुछ घरेलू उपचार है जो निमोनिया से पीड़ित बच्चों को राहत प्रदान कर सकते हैं जिनके बारे में हमने आपको नीचे बताया है|

आराम: अपने बच्चों को जितना हो सके आराम करने के लिए प्रोत्साहित करें जिससे उसका शरीर संक्रमण से लड़ने पर ध्यान केंद्रित कर सके|

तरल पदार्थ: अपने बच्चों को बहुत सारे तरल पदार्थ पीने के लिए प्रोत्साहित करें जैसे की पानी| उन्हें हाइड्रेटेड रखना पतले बलगम के स्त्राव को बनाए रखने में मदद करने के लिए उपयोगी होता है|

ह्यूमिडिफायर: अपने बच्चों के कमरे में कॉल मिस्ट ह्यूमिडिफायर का उपयोग करने से सांस लेने में आसानी होती है और खांसी कम होती है|

गर्म सिकाई: छाती और पीठ पर गर्म सिकाई करने से छाती की बेचैनी को शांत करने और सांस लेने में आसानी हो सकती है|

स्टीम थेरेपी: गरम पानी से नहाने या गर्म पानी से भाप लेने से बलगम को ढीला करने और खांसी को कम करने में मदद मिल सकती हैं|

शहद: यदि आपका बच्चा एक वर्ष से अधिक उम्र का है तो उसे शहद देने से खांसी और गले में खराश को शांत करने में मदद मिल सकती है| इस बात का ध्यान रखें की 1 साल से कम उम्र के बच्चों को शहर ना दें क्योंकि यह हानिकारक हो सकता है|

निमोनिया कितने दिन में ठीक हो जाता है?

Pneumonia के हल्के मामले लगभग 12 सप्ताह में ठीक हो सकते हैं जबकि अधिक गंभीर मामलों में बुरी तरह से ठीक होने में कई सप्ताह से लेकर महीना तक का समय लग सकता है|

निमोनिया कितना आम है?

Pneumonia किसी को भी हो सकता है, यह एक सामान्य बीमारी है| संयुक्त राज्य अमेरिका में हर वर्ष लाखों लोगों से इसका निदान होता है| अमेरिका में प्रतिद्वंशी लगभग 55000 लोग निमोनिया से मरते हैं यह विकास सुशील देश में मृत्यु का सबसे आम कारण है|

निमोनिया के मरीज को क्या खाना चाहिए?

निमोनिया के मरीज को अपने आहार में कुछ खास आहार सामग्री शामिल करनी चाहिए जो उनके शरीर को उचित पोषण और ऊर्जा प्रदान कर सके| नीचे हमने आपको कुछ सामान्य सुझाव बताएं हैं जिनका पालन निमोनिया से बड़े व्यक्ति के लिए फायदेमंद हो सकता है|

  • उच्च प्रोटीन आहार का सेवन करना
  • हाइड्रेशन के लिए पानी और जूस का सेवन करें
  • विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट युक्त आहार को डाइट में शामिल करें
  • फाइबर से भरपूर खाद पदार्थ जैसे कि अनाज फल सब्जियां और दालों का सेवन करें
  • खाद्य पदार्थों में विटामिन डी वाले स्रोतों को शामिल करें
  • यदि आप निमोनिया से प्रेरित है तो डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए और अपने व्यक्तिगत स्वास्थ्य स्टार के आधार पर उपयुक्त आहार योजना तैयार करनी चाहिए|

FAQ’sPneumonia Kya Hai

निमोनिया रोग किसकी कमी से होता है?

मुख्य रूप से निमोनिया वायरस और बैक्टीरिया के कारण होता है लेकिन कुछ मामलों में यह अन्य कर्म जैसे कि फफूंद और परजीवियों द्वारा भी हो सकता है|

निमोनिया होने से क्या होता है?

निमोनिया होने से मरीज को खांसी तेज बुखार सीने में दर्द और सांसों में लेने में कठिनाई होती है|

Pneumonia से कौन सा अंग खराब होता है?

Pneumonia रोग का फेफड़ों पर पूरा असर होता है इसके कारण एक या दोनों फेफड़े खराब हो सकते हैं|

निमोनिया से बचाव कैसे करें?

Pneumonia को रोकने के लिए आपको टीका लगवाना चाहिए, अच्छी स्वच्छता का अभ्यास करना चाहिए, बीमार लोगों से दूर रहना चाहिए, धूम्रपान छोड़ना चाहिए, स्वस्थ आदतों का अभ्यास करना चाहिए और श्वसन शिष्टाचार का भी अभ्यास करना चाहिए|

निमोनिया का सबसे अच्छा इलाज क्या है?

अदरक का पानी निमोनिया संक्रमण का रामबाण इलाज है|

Leave a Comment