A Se Gya Tak Varnmala? अ से ज्ञ तक का वर्णमाला हिन्दी मे जानिए

A Se Gya Tak Varnmala: आज हम आपको अपने आर्टिकल के माध्यम से अ से ज्ञ तक वर्णमाला बताएंगे जिसे आप या कोई भी छोटा बच्चा अपनी सुविधा अनुसार पढ़ सकता है और याद कर सकता है| आज के हमारे इस लेख में आपको प्रत्येक अक्षर से जुड़े शब्दों के बारे में पढ़ने और समझने को मिलेगा| तो अगर आप A Se Gya Tak Varnmala वर्णमाला पढ़ना और समझना चाहते हैं तो हमारे आर्टिकल को अंत तक ध्यान पूर्वक जरूर पढ़ें इसमें आपको स्वर व्यंजनों के बारे में भी बताया गया है| 

A Se Gya Tak Varnmala (अ से ज्ञ तक वर्णमाला)

अंअ:
ड़
क्षत्रज्ञ 
ज़रूर पढ़े2 से 20 तक पहाड़े
ज़रूर पढ़ेपालतू जानवरों के नाम

से ज्ञ तक वर्णमाला शब्दों के साथ

  • अ से अनानास
  • आ से आलू
  • इ से इमली
  • ई से ईट
  • उ से उल्लू
  • ऊ से ऊन
  • ऋ से ऋषि
  • ए से एक
  • ऐ से ऐनक
  • ओ से ओखली
  • औ से औरत
  • अं से अंगूर
  • अ:
  • क से कबूतर
  • ख से खरगोश
  • ग से गमला
  • घ से घर
  • च से चम्मच
  • छ से छतरी
  • ज से जहाज
  • झ से झंडा
  • ट से टमाटर
  • ठ से ठठेरा
  • ड से डमरू
  • ढ से ढोलक
  • त से तरबूज
  • थ से थरमस
  • द से दवाई
  • ध से धनुष
  • न से नल
  • प से पपीता
  • फ से फल
  • ब से बतख
  • भ से भालू
  • म से मक्का
  • य से यज्ञ
  • र से रथ
  • ल से लहसुन
  • व से वजन
  • श से शहनाई
  • ष से षटकोण
  • स से सांप
  • ह से हाथी
  • क्ष से क्षत्रिय
  • त्र से त्रिशूल
  • ज्ञ से ज्ञानी

वर्णमाला किसे कहते हैं?

वर्णन के व्यवस्थित समूह को वर्णमाला कहते हैं हिंदी वर्णमाला को देवनागरी लिपि में लिखा जाती है|

वर्ण किसे कहते हैं

यदि आप जानना चाहते हैं कि वर्णन किसे कहते हैं तो हम आपको बता दें कि वर्ण भाषा की सबसे छोटी इकाई धमनी होती है इसके साथ ही वर्ण दो प्रकार के होते हैं| जिसमें पहला स्वर्ण वर्ण और दूसरा व्यंजन वर्ण होता है किसी भी भाषा की सबसे छोटी इकाई को ध्वनि कहते हैं| प्रत्येक ध्वनि को लिखने का एक निश्चित चिन्ह होता है ध्वनि के बोले जाने वाले और लिखित रूप को वर्णन कहते हैं|

स्वर वर्ण किसे कहते हैं

वह सभी वर्ण जिनके उच्चारण करने पर एक ही प्रकार की ध्वनि उत्पन्न होती है उन्हें स्वर्ण वर्ण कहा जाता है| स्वर्ण वर्ण के निम्न उदाहरण है जैसे- अ, इ, उ, आदि इसके अलावा आपको बता दें की वर्णमाला में 11 स्वर शामिल होते हैं| लेकिन वही अं और अः को शामिल करने के बाद स्वरों की कुल संख्या 13 हो जाती है जो इस प्रकार है|



अंअः

स्वर कितने प्रकार के होते हैं

  • हृस्व स्वर- वह सभी स्वर जिनके उच्चारण में काफी कम वक्त लगता है उन्हें हृस्व स्वर कहा जाता है| इसके निम्न उदाहरण है जैसे की अ, इ, उ, आदि|
  • दीर्घ स्वर वह सभी वर्ण जिनके उच्चारण में हृस्व स्वर से दोगुना वक्त लगता है उन्हें दीर्घ स्वर कहा जाता है इनके निम्न उदाहरण है जैसे की आ, ई, ऊ, ऐ, ओ, औ, आदि|
  • प्लुत स्वर वह सभी वर्ण जिसके उच्चारण में हृस्व स्वर से तीन गुण एवं दीर्घ स्वर से दो गुना वक्त लगता है उन्हें प्लुत स्वर कहां जाता है इसके निम्न उदाहरण है जैसे की राऽऽम, ओऽऽम आदि|

व्यंजन वर्ण किसे कहते हैं

वह सभी वर्ण जिनके उच्चारण करते समय दो ध्वनियां सुनाई देती है इन सभी वर्णों को व्यंजन वर्ण कहा जाता है|

ड़
क्षत्र
ज्ञ    
 मसालों के नाम
12 महीनों के नाम
भारत के पड़ोसी देशों के नाम 

से ज्ञ तक हिंदी और अंग्रेजी में वर्णमाला

Kक से कलम का क
KHख से खरगोश का ख
Gग से गणेश का ग
GHघ से घंटी का घ
CHच से चाकू का च
CHHछ से छाता का छ
Jज से जंगल का ज
JHझ से झण्डा का झ
Tट से टमाटर का ट
THठ से ठठेरा का ठ
Dड से डमरू का ड
DHढ से ढक्कन का ढ
AN
Pत से तराजू का त
Fथ से थन का थ
Dद से दवात का द
DHध से धनुष का ध
Nन से नल का न
Pप से पतंग का प
PHफ से फल का फ
Bब से बकरी का ब
BHभ से भालू का भ
Mम से मुर्गी का म
Yय से यज्ञ का य
Rर से रस्सी का र
Lल से लड़का का ल
Vव वक का व
SHश से शलजम का श
SHष से षट्कोण का ष
Sस् से सरोता का स
Hह से हल का ह
क्षKSHक्ष से क्षत्रिय का क्ष
त्रTRत्र से त्रिशूल का त्र
ज्ञGYज्ञ से ज्ञानी का ज्ञ

FAQ’s A Se Gya Tak Varnmala 

स्वर कितने होते हैं?

हिंदी भाषा में मूल रूप से 11 स्वर होते हैं|

से ज्ञ तक के वर्णमाला कितने होते हैं

अ से ज्ञ तक के वर्णमाला ओं की संख्या 52 होती है| 

हिंदी वर्णमाला में कितने स्वर कितने व्यंजन होते हैं

हिंदी वर्णमाला में कुल 11 स्वर और 41 व्यंजन होते हैं|

Leave a Comment