(POK) पीओके का क्या मतलब है – POK Full Form जानिए पूरी जानकारी

POK Full Form (POK) पीओके का क्या मतलब है पीओके का छेत्रफल और मुद्दे के बारे में जाने पूरी जानकारी हिंदी में

आज हम पीओके (POK)  के विषय में बात करेंगे दोस्तों 15 अगस्त 1947 में भारत को स्वतंत्रता मिलने के साथ ही भारत के दो हिस्से हो गए थे जिसका दर्द आज भी भारत के लोग उठा रहे हैं धर्म के आधार पर भारत के दो हिस्से किए गए थे जिसमें लाखों निर्दोष लोगों को अपनी जानें गंवानी पड़ी थी| फिर वहीं पाकिस्तान ने कश्मीर पर हमला बोलते हुए कश्मीर के एक हिस्से पर कब्जा कर लिया था जिसको पीओके कहा जाता है| भारत के ऑफिशियल मैप में पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर को भी दर्शाया जाता है और पीओके भारत का एक अभिन्न अंग है अतीत की कुछ घटनाओं के आधार पर पीओके का जन्म हुआ और अक्सर समाचार में पीओके का नाम आपने जरूर सुना होगा|

आज हमारे इस लेख के माध्यम से आप POK के बारे में सभी संपूर्ण जानकारियां प्राप्त करेंगे क्योंकि इस लेख के अंतर्गत हम आपको बताएंगे कि (POK) पीओके का क्या मतलब है POK Full Form पीओके का क्षेत्रफल और इसका मुद्दा POK के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे लेख को अंत तक पढ़े|

POK Full Form

पीओके फुल फॉर्म – POK Full Form



P – Pakistan

O – Occupied

K – Kashmir

POK Full Form

हिंदी भाषा में इसको ‘‘पाक अधिकृत कश्मीर’’ के नाम से जाना जाता है और संक्षेप में इसको  ‘‘पीओके (POK)’’ कहते है|

ये भी पढ़े – Globe Kya Hai
ये भी पढ़े – World Population in Hindi

(POK) पीओके का क्या मतलब है

वर्ष 1947 में भारत की आजादी मिलने के समय अंग्रेजों ने यहां की रियासतों को अपने मन मुताबिक भारत अथवा पाकिस्तान के साथ जाने का फैसला करने के लिए कहा था जिसके तहत उस समय 500 से भी अधिक रियासतों ने भारत के साथ जाने का फैसला किया इसी के साथ ही भारत के दो हिस्से कर दिए गए थे| भारत के यहीं से धर्म के आधार पर किए गए थे उस समय जम्मू कश्मीर के राजा हरि सिंह थे जिन्होने ना ही पाकिस्तान में विलय किया और ना ही भारत में विलय किया था|

इस बात से पाकिस्तान काफी नाराज हो गया था इसके बाद पाकिस्तान ने कश्मीर को अपने कब्जे में करने के लिए वहां हमला बोल दिया महाराजा हरि सिंह ने कश्मीर को बचाने के लिए भारत से मदद करने की अपील की इसके बाद महाराजा हरि सिंह ने भारत के साथ विलय पत्र पर हस्ताक्षर किया और समझौता करते हुए कहा था कि कश्मीर के रक्षा विदेश और संचार मामले भारत के अधीन रहेंगे फिर हरि सिंह की अपील को स्वीकार करते हुए भारतीय फौजी कश्मीर की मदद करने के लिए वहां पहुंच गए भारतीय फौजी ने सभी पाकिस्तानियों को कश्मीर से खदेड़ कर बाहर कर दिया था|

पीओके का क्षेत्रफल

अब हम बात करते हैं पीओके के क्षेत्रफल की कश्मीर का कुछ हिस्सा पाकिस्तान में है लेकिन कश्मीर का अधिकतर हिस्सा भारत में ही आता है कश्मीर का 78,104 Square किलोमीटर हिस्सा पाकिस्तान में है यह कश्मीर राज्य का लगभग 30% हिस्सा है जो कि पाकिस्तान में है|

आपको बता दें कि पाकिस्तान ने वर्ष 1947 में ही कश्मीर के एक बड़े हिस्से पर कब्जा करते हुए उस हिस्से को दो भागों में विभाजित कर दिया था जिनका नाम आजाद कश्मीर और गिलगित बालटिस्तान है आजाद कश्मीर 13,300 वर्ग किलोमीटर के दायरे में फैला हुआ है जिसकी कुल आबादी लगभग 45 लाख है| पाकिस्तान ने कश्मीर के जिस हिस्से पर अपना कब्जा बनाया हुआ है पाकिस्तानी उसको आजाद कश्मीर कहते हैं|

पीओके की सीमाएं पाकिस्तान के पंजाब प्राप्त, अफगानिस्तान के वखान कोरिडोर, चीन के शिंजियांग क्षेत्र और भारतीय कश्मीर के पूर्वी क्षेत्र में जाकर मिलती है आजाद कश्मीर की राजधानी मुजफ्फराबाद है जिसमें 8 जिले और 19 तहसीलें बनी हुई है|

ये भी पढ़े – भारत में कुल कितने राज्य हैं
ये भी पढ़े – भारत के पड़ोसी देशों के नाम व राजधानी

POK का मुद्दा

आपको बता दें कि भारत की आजादी के समय यानी वर्ष 1947 में जिस समय भारत व पाकिस्तान का विभाजन हो रहा था उस समय में ब्रिटिश सरकार सभी रियासतों को यह विकल्प दिए जा रहे थे कि या तो आपको भारत में जोड़ना होगा या फिर पाकिस्तान में जुड़ना होगा और अगर आपको दोनों में ही नहीं जोड़ना है तो आपको स्वतंत्र रहना होगा|

  • 21 अक्टूबर 1947 को कुछ पासतुन जाति के लोगों ने पाकिस्तान की आर्मी के साथ मिलकर उन सभी ने पाकिस्तान के साथ कश्मीर पर हमला कर दिया था|
  • उसके बाद पाकिस्तान ने कश्मीर के 2 इलाकों पर सबसे पहले अपना कब्जा बनाया वह जगह मुजफ्फराबाद और बारामूला थी आप सभी को यह बता दें कि मुजफ्फराबाद और बारामुला श्रीनगर से केवल 32 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है|
  • उस समय मैं उस जगह के राजा ने भारत से मदद की पुकार की लेकिन उस समय भारत ने उनकी मदद करने के लिए एक शर्त रखी थी उनकी शर्त यह थी कि पहले आपको Instrument Of Accession पर हस्ताक्षर करने होंगे तभी भारत आपकी मदद करेगा|
  • उसके बाद उन्होंने शर्त मानते हुए Instrument Of Accession पर हस्ताक्षर कर दिए थे उसके बाद भारत ने तुरंत अपनी आर्मी को उस स्थान पर भेजा था| उसके बाद भारत के पाकिस्तान के बीच में युद्ध हुआ था और उस युद्ध में भारत के बहादुर आर्मी ने पाकिस्तान की आर्मी को पीछे जाने पर मजबूर कर दिया था|

पीओके पर पाक सेना का दबाव

पीओके में मुख्य रूप से मक्का और गेहूं की खेती की जाती है यहां के लोग मुख्य रूप से पश्तो, उर्दू, कश्मीरी और पंजाबी बोली बोलते हैं और यहां की साक्षरता दर 72% है जहां पर शिक्षा की काफी कमी पाई जाती हैं| आपको बता दें कि POK का अपना सुप्रीम कोर्ट और हाई कोर्ट है पाकिस्तान के लोग अक्सर पीओके के लोगों पर अपना जुल्म करते रहते हैं जिसके लिए पीओके के लोग पाकिस्तान के खिलाफ अपनी आजादी के लिए आंदोलन करते रहते हैं| लेकिन पाक सेना अपने जुल्मों से उनकी आवाजों को उठने नहीं देती है|

Conclusion

आज के लेख में आपको पीको के के बारे में सभी महत्वपूर्ण जानकारियां प्रदान की गई है हमने आपको (POK) पीओके का क्या मतलब है के बारे में सभी विस्तारपूर्वक जानकारियां प्रदान की| यदि आपको पीओके से संबंधित सभी जानकारियां पसंद आई हो तो हमारे लेख को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें|

FAQs

पीओके का क्षेत्रफल कितना है?

पीओके का क्षेत्रफल 78,104 स्क्वायर किलोमीटर है|

पाकिस्तान ने कश्मीर पर हमला कब किया था?

21 अक्टूबर 1947 को कुछ पास्तुन जाति के लोगों ने पाकिस्तान की आर्मी के साथ मिलकर उन सभी ने पाकिस्तान के साथ कश्मीर पर हमला कर दिया था|

Leave a Comment