KYC क्या है | KYC Full Form, केवाईसी कैसे करे की जानिए पूरी जानकारी Hindi Me

KYC Kya Hai: दोस्तों क्या आप जानते हो कि केवाईसी क्या है | यदि आप नहीं जानते कि केवाईसी किसे कहते हैं| तो आज हम अपने इस लेख में आपको केवाईसी के बारे में सभी जानकारी देने वाले हैं| K.Y.C. के बारे में जानने के लिए आप हमारे इस लेख में अंत तक बने रहे| ताकि आप K.Y.C. के बारे में सभी जानकारी विस्तारपूर्वक जान सके| इस लेख में हम आपको केवाईसी के बारे में बहुत सी जानकारी देंगे| जो आपके लिए बहुत उपयोगी साबित होगी| हम आपको बताएंगे की KYC Kya Hai | K.Y.C. की फुल फॉर्म केवाईसी होना क्यों जरूरी है| इन सभी जानकारी के साथ-साथ और अधिक जानकारी इस लेख में देने वाले हैं|

KYC Kya Hai

अब हम बात करते हैं कि KYC Kya Hai| केवाईसी को साधारण भाषा में बताएं तो यह एक ऐसी जानकारी है| जो कस्टमर के बारे में होती है| यानी के केवाईसी का मतलब कस्टमर के बारे में पूरी जानकारी होता है| इसीलिए KYC का प्रयोग बैंक और फाइनेंसियल संस्थाएं अपने सभी ग्राहकों की पहचान और उनके एड्रेस की सभी जानकारी को रखने के लिए करते हैं| जो लोग अपना खाता बैंक में खुलवाते हैं| उनके लिए KYC कराना बहुत जरूरी होता है| या यह कहें कि केवाईसी कराना सभी के लिए बहुत जरूरी है| बैंक और ग्राहक के बीच के रिश्ते को K.Y.C.मजबूत करता है|

यदि आपका केवाईसी नहीं हुआ है| तो आपका निवेश नहीं हो पाएगा| और आपको बता दें| कि इसके बगैर खाता खोलना भी कोई आसान बात नहीं है| क्योंकि कंपनी हो या बैंक KYC के माध्यम से यह Confirm करती है| कि यह जो उसका ग्राहक है| उसका नाम, एड्रेस, Phone number क्या है| Company और Bank इसलिए भी KYC की सुविधा रखते हैं| ताकि उनका कोई भी ग्राहक उनकी कंपनी के साथ Fraud ना कर सके| केवाईसी के माध्यम से एक ग्राहक अपनी सभी जानकारी कंपनियां बैंक को देता है| इससे कंपनी और बैंक को उस ग्राहक के बारे में सभी जानकारी हो जाती है| कुल मिलाकर K.Y.C.का मतलब किसी भी ग्राहक की पूर्ण रूप से जानकारी लेना होता है|

ये भी पढ़े- (बैंक बैलेंस) Bank Balance Kaise Check kare
ये भी पढ़े- E-commerce क्या होता है, इसके फायदे व नुक्सान

केवाईसी क्यों जरूरी है, KYC Kya Hai

केवाईसी कराना सभी के लिए बहुत जरूरी होता है| खासकर बैंक और कंपनी के लोग अधिकतर करवाते हैं| क्योंकि उनके बैंक और कंपनी में बहुत से लोग काम करते हैं| जिन्हें ग्राहक कहते हैं| इन्हीं ग्राहकों की पहचान करने के लिए K.Y.C. कराई जाती है| यदि किसी कंपनी में कोई ग्राहक धोखाधड़ी का इरादा रखता है| या कहीं बार ऐसा भी होता है| की कोई ग्राहक कंपनी में Fraud कर लेता है| ऐसे ग्राहक की K.Y.C. द्वारा पहचान हो जाती है| और उसको आसानी से पकड़ लिया जाता है| यदि केवाईसी ना हो तो ऐसे ग्राहक को पकड़ना बहुत मुश्किल काम हो जाता है| आत; K.Y.C. बैंक तथा कंपनी में ग्राहकों द्वारा होने वाली अपराधिक गतिविधियों को कम करता है|



KYC क्या है

K.Y.C.Full form

  • K- Know
  • Y- Your
  • C- Costumer

केवाईसी का हिंदी रूपांतरण अपने ग्राहक को जानना होता हैं

हमारे भारत देश में केवाईसी की शुरुआत वर्ष 2002 को भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा हुई थी| उसके बाद वर्ष 2004 मैं K.Y.C. सभी बैंक के खाताधारकों के लिए अनिवार्य कर दी गई|

आजकल बहुत लोग ऑनलाइन ट्रांजैक्शन का प्रयोग करते हैं| यदि आप Digital Payment या Online Payment जैसे- Google पर, Phone पर या amazon पर आदि का प्रयोग करते |हैं तो आपको केवाईसी का हिंदी में मतलब पता होना चाहिए| यदि कभी भी कोई व्यक्ति आपसे पूछे की KYC का हिंदी में मतलब क्या है| यदि आपको K.Y.C. का हिंदी में मतलब पता होगा| तो आप उसको तुरंत जवाब दे सकते हैं|

एक केवाईसी इलेक्ट्रिक तरीके से भी होता है| उस KYC को E- K.Y.C. कहते हैं| इस K.Y.C. का पूरा नाम Electronic Know Your Customer होता है|

KYC

KYC के लिए Documents

अब हम बात करते हैं| कि केवाईसी कराने के लिए किन जरूरी दस्तावेजों की आवश्यकता होती है| K.Y.C कराने के लिए कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेज हैं| कि अगर आपके पास यह दस्तावेज होंगे| तभी आप की केवाईसी हो पाएगी| यदि आपके पास यह जरूरी दस्तावेज ना हो तो आपकी K.Y.C नहीं हो पाएगी|

आपको बता दें| कि जब आप KYC कराने के लिए Bank जाते हैं| तो आपको केवाईसी प्रक्रिया शुरू करने से पहले एक फॉर्म भरना होता है| और इसी फॉर्म के साथ वेरिफिकेशन के लिए कुछ जरूरी दस्तावेजों की आवश्यकता होती है| जो हम आपको बताने वाले हैं|

Required Documents

  • ड्राइविंग लाइसेंस
  • वोटर आईडी
  • पासपोर्ट
  • आधार कार्ड
  • पैन कार्ड
  • Passport size फोटो
  • K.Y.C. Form

KYC Online Form

यदि आप Online KYC Form भरना चाहते हैं| तो हम आपको ऑनलाइन केबीसी फॉर्म भरने के बारे में सभी जानकारी देने वाले हैं| KYC Form भरने के लिए आपको कुछ महत्वपूर्ण बातों का ध्यान रखना चाहिए|

  • किसी भी K.R.A. Website पर जाएं| और अपना आधार कार्ड नंबर डालें|
  • इसके बाद अपना फोन नंबर डालें|
  • अब आपके फोन पर एक O.T.P. जाएगा यह O.T.P. उसी नंबर पर जाएगा जो आपने यह फॉर्म भरते वक्त डाला होगा|
  • आपके पास O.T.P. डालने का समय कुछ ही सेकंड के लिए होता है| इन सेकंड के अंतर्गत ही आपको O.T.P. डालना होता है|
  • ऑनलाइन केबीसी फॉर्म में अपना विवरण और लिंक भर दे|
  • बैंक की E- mail ID आप उसकी Website पर जाकर ही ले| 

ConclusionKYC Kya Hai

कैसी लगी आज की हमारी KYC को लेकर सभी विस्तारपूर्वक जानकारी| आशा है कि हमारे द्वारा दी गई केवाईसी को लेकर सभी जानकारी आपको बहुत पसंद आई होगी| आज के इस लेख में हमने आपको बताया कि KYC Kya Hai |, केवाईसी कराना क्यों जरूरी है|, इस के लिए जरूरी दस्तावेज कौन-कौन है|, K.Y.C. की फुल फॉर्म क्या है| इसको हिंदी में क्या कहते हैं| आदि सभी जानकारी आज हमने आपको इस Article में दी यदि आपको हमारा यह लेख पसंद आया हो तो इस लेख को ज्यादा से ज्यादा अपने दोस्तों में Share करें|

FAQ’s

केवाईसी कैसे होती है?

केवाईसी करने के लिए बैंक जाकर अपनी पहचान पत्र और पते का प्रमाण पत्र जमा करना होता है लेकिन अभी इसको घर बैठे ऑनलाइन माध्यम से भी किया जा सकता है|

बैंक में केवाईसी करने के लिए कितने दस्तावेज चाहिए होते हैं?

पासपोर्ट, फोटो के साथ ड्राइविंग लाइसेंस, आधार नंबर, राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर द्वारा जारी पत्र जिसमें नाम और पति का विवरण शामिल हो|

केवाईसी पहचान संख्या क्या है?

यह कस्टमर को आईडी प्रूफ से लिंक किए गए सिंगल यूनिफाइड केवाईसी नंबर (14 अंक) प्रदान करता है|

Leave a Comment