ठेकेदार (Contractor) कैसे बने|योग्यता, आवश्यक गुण, सैलरी, कांट्रेक्टर लाइसेंस रजिस्ट्रेशन|

Contractor Kaise Bane: वर्तमान समय में प्रत्येक व्यक्ति पैसे कमाना चाहता है जिससे वह अपनी Life और Future को Secure कर सके और अच्छा जीवन व्यतीत कर सके| इसके लिए ठेकेदार बनना भी अच्छी इनकम का साधन हो सकता है वैसे तो ठेकेदार बना इतना आसान नहीं है| क्योंकि इस काम में बहुत सी समस्याओं का सामना करना पड़ता है|

यदि आप भी ठेकेदार बनना चाहते हैं और इस बारे में सभी जानकारियां प्राप्त करना चाहते हैं तो आप आज के हमारे लेख के माध्यम से इस विषय से संबंधित सभी जानकारियां प्राप्त कर सकते हैं| क्योंकि आज हम आपको ठेकेदार क्या है, ठेकेदार कैसे बने (Contractor Kaise Bane), योग्यता, आवश्यक गुण एवं ठेकेदार की सैलरी कितनी होती है के बारे में भी हम आपको लेख के अंतर्गत बताएंगे|

Computer Engineer कैसे बने
सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बने
AutoCAD क्या है

ठेकेदार क्या है?

जो व्यक्ति किसी निश्चित कीमत पर किसी काम को पूरा करवाने या उसकी मरम्मत करवाने की जिम्मेदारी या ठेका लेता है उसी को ठेकेदार या कांट्रेक्टर कहा जाता है| यह ठेका वह किसी मकान या किसी इमारत के निर्माण या अन्य किसी भी अन्य कार्यों के लिए हो सकता है|

अधिकतर निर्माण परियोजनाएं और व्यापारिक परियोजनाओं के लिए ठेकेदार का इस्तेमाल किया जाता है| ठेकेदार निर्माण परियोजनाओं को सही समय पर करने और उनसे संबंधित आर्थिक सहायताओं को मुहैया कराता है कांट्रेक्टर का दायित्व होता है कि वह हर एक कार्य को सही समय पर और सही ढंग से करें और उनके द्वारा कराए गए कार्य सही हो|

कम इन्वेस्टमेंट में अच्छा बिजनेस आइडिया 
Unnati App Se Loan Kaise Le 

ठेकेदार कैसे बने? Contractor Kaise Bane

Contractor Kaise Bane

एक ठेकेदार बनने के लिए आपको शिक्षित होना आवश्यक होता है क्योंकि इसमें बहुत सारी ऐसी जिम्मेदारियां सोपी जाती हैं जो एक शिक्षित व्यक्ति ही कर सकता है| इसके अलावा ठेकेदार बनने वाले व्यक्ति के खिलाफ किसी भी प्रकार की कानूनी कार्यवाही ना की गई हो ठेकेदार बनने वाले व्यक्ति को ठेकेदारी संबंधित सभी जानकारी प्राप्त होनी चाहिए कि वह ठेकेदार बनाकर कैसे किसी क्षेत्र में काम कर सकता है कैसे उसके लिए सही फैसला ले सकता है|

जिस व्यक्ति को इस प्रकार की सभी जानकारियां प्राप्त होती है वह व्यक्ति एक ठेकेदार बनने योग्य माना जाता है और ठेकेदार के सभी कार्य अच्छे से कर सकता है क्योंकि ठेकेदार द्वारा कराए गए कार्यों को इंजीनियर या कोई अधिकारी चेक करने के लिए आता रहता है| इसलिए एक ठेकेदार को अपने काम को दिए हुए समय के भीतर पूरी जानकारी के साथ करना होता है|

ठेकेदार बनने के लिए योग्यता

  • 10वीं पास
  • 12वीं पास
  • ग्रेजुएट
  • सिविल डिप्लोमा होल्डर
  • सिविल इंजीनियर

कांट्रेक्टर बनने के लिए क्याक्या गुण होने चाहिए

एक अच्छा और अनुभवी ठेकेदार सभी को चाहिए होता है चाहे वह किसी भी क्षेत्र में काम क्यों ना करवाना हो इसलिए एक अच्छा ठेकेदार बनने के लिए निम्नलिखित गुण होते हैं जिन गुना के बारे में नीचे बताया गया है|



  • जो भी व्यक्ति ठेकेदार बनना चाहता है उनके अंदर तकनीकी क्षमता होना बहुत जरूरी है|
  • ठेकेदार के अंदर काम करने की क्षमता होनी चाहिए जिससे वह समय पर अपना कार्य पूरा कर सके|
  • निर्माण स्वास्थ्य तथा सुरक्षा कानूनी की पूरी तरह जानकारी होनी चाहिए|
  • एक कांट्रेक्टर के पास बजट और समय सीमा के मुताबिक काम करने का अच्छा गुण होना अत्यंत आवश्यक है|
  • यदि ठेकेदारी करते समय कोई भी समस्या सामने आए तो उसे सरलता पूर्वक हल करने का तरीका अच्छी तरह होना चाहिए|

ठेकेदार के प्रकार – Types Of Contractor

ठेकेदार मुख्य रूप से चार प्रकार के होते हैं-

  • ए ग्रेड ठेकेदार
  • बी ग्रेड ठेकेदार
  • सी ग्रेड ठेकेदार
  • डी ग्रेड ठेकेदार

ए ग्रेड ठेकेदार का पद सबसे ऊंचा पद माना जाता है इसके बाद बी, सी और डी को लेवल के ठेकेदार आते हैं|

जो व्यक्ति इस फील्ड में अपने करियर की शुरुआत करते हैं तो उन्हें सबसे पहले डी ग्रेड लाइसेंस दिया जाता है फिर सी, बी और फिर ए ग्रेड के लिए लाइसेंस प्राप्त होता है|

ग्रेड में सुधार आपके कार्य पर निर्भर करता है यदि आप अधिक मुनाफा लेने के चक्कर में घटिया निर्माण कार्य करते हैं तो आपका लाइसेंस या तो निरस्त कर दिया जाता है या आपकी ग्रेड डी ही रहेगी जिस पर आपको बेहद ही छोटी राशि के कार्य ही प्राप्त हो सकेंगे|

ठेकेदार का लाइसेंस कैसे बनता है?

ठेकेदार का लाइसेंस बनाने के लिए प्रत्येक संस्थाओं का अपना अलग-अलग नियम होता है वही डी ग्रेड  कांट्रेक्टर के लिए फार्म के साथ निम्नलिखित दस्तावेजों की आवश्यकता होती है जैसे- पैन / टैन नंबर अभी प्रमाणित

  • टिन नंबर अभी प्रमाणित
  • कम से कम पांच शपथ पत्र
  • पंजीकरण शुल्क ₹5000

ऊपर बताए गए हैं दस्तावेजों को जमा करने के बाद ठेकेदार का लाइसेंस बनकर तैयार हो जाता है और लाइसेंस प्राप्त करने के बाद वह ठेकेदारी का काम ले सकता है और ठेकेदार का काम शुरू कर सकता है|

सरकारी ठेकेदार कैसे बनते हैं?

यदि आप किसी प्राइवेट कंपनी के लिए कार्य नहीं करना चाहते हैं और आप सरकारी ठेके लेना चाहते हैं तो आपको राज्य या केंद्र सरकार पर अपना ठेकेदारी का लाइसेंस बनवाना होगा इसके लिए अनिश्चित मानव को पूरा करके ही आप सरकारी ठेकेदार बनने योग्य होते हैं|

  • जो व्यक्ति सरकारी ठेकेदार बनना चाहता है उसको सिविल कार्यों का अनुभव होना चाहिए|
  • इंजीनियरिंग डिप्लोमा या डिग्री होनी चाहिए|
  • जीएसटी व पैन कार्ड होना चाहिए|
  • एक बार लाइसेंस बनवाने के बाद वह 5वर्ष तक वर्ष बाद आपको फिर से इस लाइसेंस को रिन्यू करना होता है|
  • सरकारी कांट्रेक्टर बनने के लिए आपको कांट्रेक्टर रजिस्ट्रेशन बोर्ड में आवेदन करना होगा|
  • एक लाइसेंस बनने के बाद आप सरकारी प्रोजेक्ट में अपने ग्रेड अनुसार बोली लगा सकते हैं और सरकारी टेंडर प्राप्त कर सकते हैं|

ठेकेदार की सैलरी (Contractor Salary)

यदि आप शुरुआती तौर पर ठेकेदार बनते हैं तो आपकी शुरुआती सैलरी कम से कम 20000 से 25000 तक हो सकती है इसके बाद जैसे-जैसे आगे बढ़ते जाते हैं वैसे ही आपकी सैलरी भी आगे बढ़ती जाती है इसके आधार पर एक ठेकेदार प्रति माह ₹30000 या इससे अधिक की भी कमाई कर सकता है| इसी के साथ ही यदि आप सरकारी ठेका लेते हैं तो उसे ठेके में सरकार द्वारा मांगे गए टेंडर के आधार पर आपको भुगतान दिया जाता है|

Contractor Kaise Bane– FAQ’s

ठेकेदारी का लाइसेंस कैसे बनाया जाता है?

यह एक लोगों आधारित पोर्टल है आत: यहां लोगों एवं साइन अप करने की आवश्यकता होती है|

भारत में ठेकेदारी लाइसेंस के लिए कौन पात्र है?

किसी भी राशि के निर्माण कार्य हेतु निवेद देने के लिए सक्षम|

ठेकेदार बनने के लिए कौन सी डिग्री होनी चाहिए?

आपको औपचारिक इंजीनियरिंग डिग्री की आवश्यकता नहीं है इसके अलावा आप अनुभव हासिल करें और वित्तीय स्थिरता सुनिश्चित करें|

ठेकेदारों के लिए जीएसटी क्या है?

18 फीसदी

Leave a Comment