Communication Kya Hai – कम्युनिकेशन के कितने प्रकार है

Communication Kya hai – दोस्तों आपने कम्युनिकेशन का नाम तो सुना ही होगा Communication का हिंदी रूपांतरण ‘संचार’ होता है वर्तमान योग के आधुनिक जीवन में प्रत्येक व्यक्ति को कम्युनिकेशन यानी संचार की आवश्यकता होती है| दोस्तों यदि हम किसी भी जानकारी को अपने किसी दोस्त या रिश्तेदार में बताते हैं उसी को संचार कहा जाता है| संचार के माध्यमों से हम दुनिया से जुड़े हुए हैं और संचार के इन्हीं माध्यमों ने हमारे जीवन को बहुत आसान बना दिया है| लेकिन वर्तमान समय में Digitalization की और जिस तरह से देश बढ़ रहा है उसको देखते हुए Communication करना बहुत आसान बात हो गई है| 

आज के हमारे इस लेख में आपको कम्युनिकेशन के बारे में सभी जानकारी विस्तार पूर्वक जानने को मिलेगी इस लेख के माध्यम से हम आपको बताएंगे कि Communication Kya hai, कम्युनिकेशन का अर्थ, यह कितने प्रकार के होते हैं, तथा Technology Communication कितने प्रकार के होते हैं, हम आपको इन सभी बातों के बारे में सभी जानकारी प्रदान करेंगे| इन सभी जानकारियों को जानने के लिए लेख को अंत तक ध्यानपूर्वक पढ़ें|

Communication Kya Hai

किसी भी बात या जानकारी को एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति तक आदान-प्रदान करने की प्रक्रिया को ही कम्युनिकेशन यानी संचार कहा जाता है| हम किसी भी माध्यम से अपनी जानकारी को अन्य लोगों तक पहुंचा सकते हैं| Communication Share करने के हमारे पास बहुत से Option होते हैं जिनसे हम मिनटों में ही अपनी जानकारी को अन्य लोगों में पहुंचा सकते हैं| कम्युनिकेशन का सबसे अच्छा ऑप्शन हमारी भाषा तथा हमारी आवाज होती है| कुछ समय पहले सूचनाओं को आदान प्रदान करने में बहुत समय लगता था परंतु अब किसी भी सूचना या जानकारी को आदान प्रदान करना बहुत आसान हो गया है|

क्योंकि किसी भी जानकारी को आदान प्रदान करने के लिए हमारे पास बहुत से Option उपलब्ध है| जिनकी मदद से लोग घर बैठे ही लोगों तक जानकारी आसानी से पहुंचा सकते हैं| जिससे समय की भी बचत होती है और आपको बता दें कि Communication शब्द लैटिन भाषा के Communicare शब्द से मिलकर बना है| जिसका मतलब ही सूचनाओं का आदान प्रदान करना होता है|



कम्युनिकेशन का अर्थ

कम्युनिकेशन का अर्थ सूचना का आदान प्रदान करना होता है कम्युनिकेशन प्रक्रिया थोड़ी कठिन होती है लेकिन कम्युनिकेशन स्किल व्यक्ति के व्यक्तित्व का एक बहुत महत्वपूर्ण अंग है कम्युनिकेशन का मतलब होता है कि आप अपनी बात को कितने सरल और प्रभावी रूप से सामने वाले व्यक्ति के सामने रखते हैं और उसको अपनी बात की किस ढंग से समझा सकते हैं किसी भी व्यक्ति से आप के बात करने के ढंग को ही कम्युनिकेशन स्किल्स कहा जाता है

Communication Kya hai
Monitor Kya Hai 

Types of Communication

कम्युनिकेशन चार प्रकार के होते हैं Communication के प्रकार तथा इनके बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं|

चलिए जानते हैं कम्युनिकेशन के प्रकार के बारे में|

Intrapersonal Communication

Intrapersonal Communication का मतलब होता है खुद से Communicate करना यानी कि इसमें व्यक्ति एकांत में खुद से बात करता है मतलब व्यक्ति अपने दिमाग में योजना बनाता है, स्वप्न देखता है, सोच विचार करता है, तो यह स्थिति Intrapersonal Communication के अंतर्गत आती हैं|

Interpersonal Communication

जब दो व्यक्ति आपस में बात करते हैं तो वह Interpersonal Communication के अंतर्गत आता हैं| इंटरपर्सनल कम्युनिकेशन दो लोगों के बीच सीधा संपर्क होता है|

Group Communication

Group Communication नाम से ही अंदाजा लगाया जा सकता है कि यह एक समूह संचार होता है| समूह के दो से अधिक लोगों के बीच हो रही वार्तालाप को ग्रुप कम्युनिकेशन कहा जाता है|

Mass Communication

Mass Communication समूह संचार का एक बहुत बड़ा रूप होता है| इसका अर्थ संचार माध्यमों की सहायता से किसी भी सूचना को जनता तक पहुंचाना होता है|

Technology Communication के प्रकार

Simplex

यदि आप किसी भी व्यक्ति को सूचना पहुंचाना चाहते हैं| तो आप Simplex Communication के माध्यम से सूचना को पहुंचा सकता है| सिंपलेक्स केवल एक ही दिशा में कार्य करती है इसके माध्यम से या तो आप सूचना को प्राप्त कर सकते हैं| या फिर सूचना को प्रदान कर सकता है| उदाहरण के लिए आपको बता दें कि जिस तरह हम टेलीविजन से केवल सूचनाएं प्राप्त कर सकते हैं और कंप्यूटर में इनपुट डिवाइस कीबोर्ड के माध्यम से हम सूचनाएं केवल भेज सकते हैं|

Half Duplex  

किसी भी सूचना पर दोनों तरफ से आदान-प्रदान करने के लिए आप Half Duplex  का इस्तेमाल (Use) कर सकते हैं| लेकिन इससे एक बार में केवल एक ही कम्युनिकेशन संभव होता है| या तो आप एक बार में Send कर सकते हैं या फिर Receive कर सकते हैं| एक ही बार में आप इससे Send और Receive नहीं कर सकते हैं|

Full Duplex

यह एक ऐसा माध्यम है जिससे आप एक ही समय में सूचनाओं का आदान प्रदान कर सकते हैं| यानी सूचनाओं को Send भी कर सकते हैं और Receive भी कर सकते हैं सूचनाओं को एक समय में Send और Receive करना Full Duplex के अंतर्गत आता है|

Parts of Communication (Communication Kya hai)

  • Message
  • Sender
  • Receiver
  • Decoding
  • Encoding
  • Medium
  • Feedback
Communication Kya hai

Message –

किसी बात एवं विचारो का आदान प्रदान किया जाता है यह सुचना या डाटा कहलाता है|

Sender –

किसी भी सोचना (इन्फर्मेशन) भेजने वाला या दसरो तक पुच्छाने वाला सेन्डर कहलाता है|  

Receiver –

जो व्यक्ति किसी सुचना को प्राप्त करता है वह रिसीवर कहलाता है|

Medium –

अपना संदेश को भेजने के लिए हम जिस माध्यम का यूज़ करते है| जिससे हमारी सुचना या इनफार्मेशन दुसरो तक आसानी से जा सके उसे मध्यम कहते है|

Decoding

डिकोडिंग वह पृकिर्या होती जो अक्षरों और शब्दों को बनाने वाले पैटर्न को पहचानने के द्वारा भाषण में प्रिंट का अनुवाद करने की प्रक्रिया है। इसे Decoding कहते है|

Encoding

डेटा को या कोई सूचना समझने के लिए आवश्यक प्रारूप में परिवर्तित करते है उसे एंडोडिंग कहते है|

Feedback

यह एक तरीके की सुचना होती है की जो प्रेषक बताना चाहते है| वो सही है या नहीं या उसमे किसी भी प्रकार का कोई बदलाव लाना चाहिए|

Communication Kaise Improve Kare

  • Body Language सही रखें
  • व्यक्ति को समझे
  • सही शब्दों का इस्तेमाल (Use) करें
  • बातें ध्यान पूर्वक सुने
  • Daily Practice करें
  • Eye Contact करें
  • Point to point ही बात करें
  • बात करते वक्त Confidence रहे|
Communication Kya hai
pdf File Kya Hoti Hai
Output or Input device kya hai? 

Conclusion

आज के इस लेख के माध्यम से हमने आपको कम्युनिकेशन के बारे में जागृत किया लेख के अंतर्गत हमने आपको बताया कि Communication kya hai, कम्युनिकेशन का अर्थ, यह कितने प्रकार के होते हैं, टेक्नोलॉजी कम्युनिकेशन के प्रकार क्या है, एवं Parts of Communication. और इसके अलावा हमने आपको Communication Skill Kaise Improve Kare इसके बारे में भी बताया|यदि आपको यह सभी जानकारी पसंद आई हो तो लेख को वापस से ज्यादा शेयर करें|

Leave a Comment